• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • BJP's Election Churning In Chandigarh, Meeting For The First Time After The Withdrawal Of Agricultural Law, Union Minister Shekhawat Will Also Attend

चंडीगढ़ में BJP का चुनावी मंथन:कृषि कानून वापसी के बाद पहली मीटिंग, केंद्रीय मंत्री शेखावत बोले- पंजाब में चौंकाने वाले परिणाम देंगे

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़ में पार्टी नेताओं से मीटिंग करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत और मीनाक्षी लेखी का स्वागत करते प्रदेश के नेता। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़ में पार्टी नेताओं से मीटिंग करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत और मीनाक्षी लेखी का स्वागत करते प्रदेश के नेता।

चंडीगढ़ में पंजाब भाजपा का चुनावी मंथन चल रहा है। जिसमें पंजाब BJP प्रभारी केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत और मीनाक्षी लेखी भी शामिल हैं। यह मीटिंग कल भी जारी रहेगी। मीटिंग में पंजाब के प्रदेश से लेकर जिला और मंडल स्तर के नेताओं को भी बुलाया गया है।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने कहा कि उनका हर कार्यकर्ता बूथ स्तर पर जनसंपर्क में माहिर है। पंजाब में भाजपा चौंकाने वाला प्रदर्शन करने वाली है। दूसरे दलों के मुकाबले भाजपा सबको साथ लेकर चल रही है।

मीटिंग के दौरान उपस्थित भाजपा नेता
मीटिंग के दौरान उपस्थित भाजपा नेता

पंजाब भाजपा के प्रधान अश्वनी शर्मा ने कहा कि भाजपा पंजाब में सभी 177 सीटों पर अकेले लड़ने की रणनीति बना रही है। भाजपा के पास कैंडिडेट्स की कमी नहीं है। उन्होंने सीएम चरणजीत चन्नी और आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल की घोषणाओं पर कहा कि भाजपा संकल्प पत्र लेकर आएगी। उसमें जो कहा जाएगा, उसे पूरा किया जाएगा।

यह मीटिंग इसलिए अहम है, क्योंकि कृषि कानून वापसी के बाद पहली बार BJP नए सिरे से रणनीति बनाएगी। PM नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले ही कृषि कानून वापसी की घोषणा की है। हाल ही में भारत-पाक के बीच बना करतारपुर कॉरिडोर खोला गया है, जिसका क्रेडिट भी पंजाब भाजपा ले रही है।

पिछली मीटिंग में BJP ने 'नवां पंजाब, भाजपा दे नाल' मुहिम लॉन्च की थी।
पिछली मीटिंग में BJP ने 'नवां पंजाब, भाजपा दे नाल' मुहिम लॉन्च की थी।

पंजाब में किसानों का विरोध झेल रही है भाजपा

पंजाब में अभी तक भाजपा को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ रहा था। अभी भी कृषि कानूनों की वापसी कानूनी तौर पर नहीं हुई है। किसान आंदोलन में डटे हुए हैं। हालांकि घोषणा के बाद पंजाब में भाजपा का विरोध होगा या नहीं, इसको लेकर अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। लेकिन किसान अब MSP पर गारंटी कानून और कुछ अन्य मांगें कर रहे हैं। इसको लेकर भी मीटिंग में चर्चा होगी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह लगातार पीएम मोदी की तारीफ कर रहे हैं।
कैप्टन अमरिंदर सिंह लगातार पीएम मोदी की तारीफ कर रहे हैं।

पहली बार अकेले चुनाव में, कैप्टन से सीट शेयरिंग संभव

अकाली दल से गठजोड़ टूटने के बाद BJP पहली बार पंजाब में 117 सीटों पर अकेले विधानसभा चुनाव लड़ रही है। ऐसे में पंजाब को लेकर भाजपा की चुनौती बड़ी है। हालांकि भाजपा के पास कैप्टन अमरिंदर सिंह का विकल्प भी है, जो कृषि कानून वापसी के बाद अपनी नई पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी का भाजपा से गठजोड़ को तैयार हैं और वह सीट शेयरिंग कर चुनाव लड़ेंगे। लेकिन अभी इस पर न कोई बात हुई है और न ही कोई फैसला।

खबरें और भी हैं...