पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंडीगढ़ में सेक्टर-37 की कोठी कब्जाने का मामला:सुप्रीम कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद बिजनेसमैन सौरव गुप्ता ने अदालत में किया आत्मसमर्पण, 2 दिन के रिमांड पर भेजा गया

चंडीगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोठी प्रकरण में आरोपी सौरव गुप्ता की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
कोठी प्रकरण में आरोपी सौरव गुप्ता की फाइल फोटो।

चंडीगढ़ में सेक्टर-37 के कोठी मामले में लंबे समय से फरार चल रहे आरोपी बिजनेसमैन सौरव गुप्ता ने जिला अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद आत्मसमर्पण करने पहुंचे सौरव की पुलिस ने 5 दिन की रिमांड मांगी, लेकिन दो दिन की मिली।

पुलिस ने यह तर्क देते हुए रिमांड मांगा कि कोठी खरीदने वाला मुख्य आरोपी सौरव गुप्ता ही है, जिसकी सुप्रीम कोर्ट से भी याचिका खारिज हो चुकी है। इससे पूछताछ करनी है और कोठी के दस्तावेज कब्जे में लेने हैं, इसलिए पांच दिनों का रिमांड दिया जाए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने सौरव का दो दिनों का पुलिस रिमांड दिया। जिसके बाद से लगातार सौरव से पुलिस पूछताछ कर रही है।

पुलिस का कहना है कि आरोपी से कुछ बड़ा खुलासा हो सकता है। बता दें कि सेक्टर-37 की इस विवादित कोठी को गुप्ता ब्रदर्स ने ही खरीदा था और पुरानी बिल्डिंग को तोड़कर उसकी जगह नई इमारत का निर्माण भी शुरू कर दिया था। जब निर्माण हो रहा था, तभी मामला खुल गया और पुलिस ने FIR दर्ज की।

सेक्टर-31 थाना पुलिस ने इस मामले में सबसे पहले सौरव के भाई मनीष गुप्ता और संजीव महाजन को गिरफ्तार किया था। इसके बाद अन्य गिरफ्तारियां भी हुई, जिनमें चंडीगढ़ पुलिस के इंस्पेक्टर रहे राजदीप सिंह, शराब कारोबारी अरविंद सिंगला, नकली राहुल मेहता बने मोहाली के गुरप्रीत सिंह शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...