• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Capt Amarinder Singh On His Knees In Front Of The High Command To Save His Sinking Ship As Voice Of Dissent Rises. Said Mr Ashwani Sharma State Party President.

कांग्रेस की अंतर्कलह पर भाजपा का निशाना:प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा- कुर्सी बचाने के लिए दिल्ली में घुटनों के बल हुए कैप्टन, कांग्रेसी नेता सिर्फ सत्ता के लालची

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अश्विनी शर्मा ने कहा कि मुख्य्मंत्री अमरिंदर सिंह और उनके मंत्री अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए अपने दोष केंद्र सरकार पर मढ़ देते हैं।- फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
अश्विनी शर्मा ने कहा कि मुख्य्मंत्री अमरिंदर सिंह और उनके मंत्री अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए अपने दोष केंद्र सरकार पर मढ़ देते हैं।- फाइल फोटो।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी डूबती नईया को बचाने के लिए दिल्ली हाई कमान के समक्ष घुटनों के बल बैठे हुए हैं, क्योंकि पिछले साढ़े चार वर्षों में कैप्टन ने प्रदेश की जनता के लिए कुछ भी नहीं किया है। अब चुनाव आ गए हैं और जनता के साथ किए गए न तो वादे ही पूरे किए और न ही उन्हें कोरोनाकाल में किसी भी तरह की कोई राहत प्रदान की।

यह कहना है प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्विनी शर्मा का। शर्मा ने कांग्रेस में मचे घमासान पर आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस की आपसी कलह अब प्रदेश की जनता के लिए नासूर बन गई है। जनता कोरोना महामारी से मौत की गर्त में समा रहे अपने परिजनों की जिंदगियां बचाने के लिए लड़ रही है और कांग्रेसी नेता अपने वजूद तथा कुर्सी की लड़ाई लड़ रहे हैं।

अश्विनी शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री तथा उनके स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू सिर्फ अख़बारों में बड़े-बड़े ब्यान लगवा कर प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं पुख्ता होने के बड़े-बड़े दावे करते नहीं थकते। जबकि हकीकत यह है कि स्वास्थ्य मंत्री सिद्धू के अपने हल्के में स्वास्थ्य सुविधाओं की हालत बद्तर है।

कोरोना महामारी से जूझ रही प्रदेश की जनता को बचाने और उन्हें मूलभूत स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने की बजाय मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और उनके कांग्रेसी नेता आपस में लड़ने में व्यस्त हैं। इनकी आपसी लड़ाई में सबसे ज्यादा जानी और माली नुक्सान पंजाब की आम जनता का हो रहा है, जिनके परिजन मौत के मुंह में समा रहे हैं। लेकिन कैप्टन और उनके नेताओं को इससे कोई लेना-देना नहीं है

अश्विनी शर्मा ने कहा कि पंजाब के कांग्रेसी नेता सिर्फ सत्ता के और कुर्सी के लालची है और इसके लिए वो किसी भी हद तक जा सकते हैं। मुख्य्मंत्री अमरिंदर सिंह और उनके मंत्री अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए अपने दोष केंद्र सरकार पर मढ़ देते हैं और जब असलियत सामने आती है तो मुंह छिपाते फिरते हैं।

खबरें और भी हैं...