• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Captain Amarinder Will Not Fight Against Sidhu, Declares I Will Contest From Patiala, Cannot Leave 400 Years Old Relations

सिद्धू से सीधी टक्कर नहीं लेंगे अमरिंदर:कैप्टन का ऐलान- पटियाला से ही चुनाव लड़ूंगा, 400 साल पुराने संबंधों को छोड़कर नहीं जा सकता

चंडीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेंगे। कैप्टन ने ऐलान किया कि मैं पटियाला से ही चुनाव लड़ूंगा। पटियाला 400 साल से उनके साथ रहा है। पटियाला उनकी रियासत रही है। सिद्धू की खातिर मैं पटियाला नहीं छोडूंगा। कैप्टन की यह बात इसलिए अहम है क्योंकि अब तक वह कहते रहे हैं कि सिद्धू को किसी भी सूरत में नहीं जीतने देंगे। इसके बाद नवजोत सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने कैप्टन को अमृतसर ईस्ट से चुनाव लड़ने की चुनौती दी थी।

कैप्टन ग्रुप का जारी किया ऐलान
कैप्टन ग्रुप का जारी किया ऐलान

पंजाब लोक कांग्रेस के जरिए चुनाव मैदान में
कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी के जरिए विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। कृषि कानूनों की वापसी के बाद किसान आंदोलन खत्म होने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में कैप्टन की भाजपा से सीट शेयरिंग करने की शर्त भी पूरी हो रही है।

कैप्टन बोले- सिद्धू के खिलाफ मजबूत कैंडिडेट उतारेंगे
कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि सिद्धू को वह 2022 में पंजाब चुनाव नहीं जीतने देंगे। इससे कयास लगाए जा रहे थे कि कैप्टन खुद सिद्धू का मुकाबला करेंगे। अब कैप्टन खेमा कह रहा है कि सिद्धू के खिलाफ मजबूत कैंडिडेट उतारेंगे।

कैप्टन की सिद्धू को उनकी ही सीट पर घेरने की रणनीति नहीं है
कैप्टन की सिद्धू को उनकी ही सीट पर घेरने की रणनीति नहीं है

अमृतसर से लोकसभा चुनाव लड़ चुके कैप्टन
कैप्टन अमरिंदर सिंह इससे पहले अमृतसर से लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। कैप्टन ने कहा था कि वह सोनिया गांधी के कहने पर अमृतसर गए थे। 2014 में कैप्टन ने अमृतसर से मोदी लहर के बीच भाजपा के दिग्गज नेता अरुण जेटली को हरा दिया था।

सांसद पत्नी परनीत का भी मिलेगा साथ
कैप्टन अमरिंदर सिंह को पटियाला से कांग्रेस सांसद पत्नी परनीत कौर का भी साथ मिलेगा। सांसद परनीत कौर ने कहा कि वह परिवार के साथ हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कैप्टन जुबान के पक्के हैं। कुछ दिन पहले वह कांग्रेस छोड़ चुके पति कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ भी नजर आई थी, जिसमें कैप्टन जिंदाबाद के नारे लगे थे।