65 करोड़ की ठगी में BSF डिप्टी कमांडेंट गिरफ्तार:13.81 करोड़ रुपए कैश बरामद; गुरुग्राम पुलिस ने पत्नी और बहन को भी किया गिरफ्तार

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुग्राम पुलिस की हिरासत में आरोपी। - Dainik Bhaskar
गुरुग्राम पुलिस की हिरासत में आरोपी।

गुरुग्राम पुलिस ने NSG में टेंडर दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले BSF डिप्टी कमांडेंट प्रवीण यादव, उनकी पत्नी और बहन सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से 13.81 करोड़ रुपये बरामद किए। आरोपी फर्जी IPS अधिकारी बनकर NSG में हाउसिंग कंस्ट्रक्शन का टेंडर दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी कर रहा था। आरोपी पहले NSG मानेसर में डेपुटेशन पर तैनात था और कंस्ट्रक्शन का काम भी देखता था। इस कारण इसकी जान पहचान कंस्ट्रशन फर्म से हो गई।

गुरुग्राम के ACP प्रीतपाल ने बताया कि 8 जनवरी 2022 को मोनेश इसरानी ने शिकायत दी कि प्रवीण यादव ने खुद को IPS अधिकारी बताकर NSG में कंस्ट्रक्शन, सोलर जैसे बड़े टेंडर दिलाने के नाम पर झूठे अलॉटमेंट लेटर देकर 65 करोड़ की अर्नेस्ट मनी ले ली। उसके साथ कमल सिंह, दिनेश निवासी हिसार भी शामिल है। यह राशि अकाउंट में दी गई। यह अकाउंट उसकी बहन रितुराज यादव के नाम है जो AXIS बैंक में मैनेजर है। उनसे करीब 65 करोड़ रुपये की ठगी की। शिकायत पर पुलिस कमिशनर केके राव ने SIT का गठन किया। जांच के बाद प्रवीण यादव, बहन रितुराज यादव, ममता यादव, दिनेश को गिरफ्तार किया। आरोपियों के कब्जे से करीब 13.81 करोड़ रुपए नकद बरामद किए।

4 शिकायतों के आधार पर चार मामले दर्ज

पुलिस ने बताया कि देवेंद्र यादव डायरेक्टर ऑफ YFC प्रोजेक्टस प्राइवेट लिमिटेड एंड DKY प्रोजेक्टस प्राइवेट लिमिटेड, विशाली जैन डायरेक्टर ऋषभ फर्म एंड इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड Aurum प्रोजेक्टस प्राइवेट लिमिटेड वर्किंग ऑफिस गुरुग्राम और मंगला स्पन पाइप इंडस्ट्रीज, श्याम इंडस्ट्रीज व Sea Hawk Services फर्म के संचालक किरणपाल यादव पुत्र फकीर चंद यादव निवासी गुरावड़ा जिला रेवाड़ी ने लगभग 125 करोड़ रुपए की ठगी करने के संबंध में शिकायत दी गई। पुलिस ने 4 एफआईआर दर्ज की हैं।

आरोपी से बरामद लग्जरी गाड़ियां।
आरोपी से बरामद लग्जरी गाड़ियां।

लग्जरी गाड़ियां बरामद

आरोपी ने शिकायतकर्ताओं को कहा कि हैदराबाद में भी एनएसजी का कॉम्प्लेक्स है, वहां पर निर्माण कार्य होना है। शिकायतकर्ताओं को शक हुआ तो पुलिस को शिकायत दी। ACP क्राइम प्रीतपाल ने बताया कि आरोपी बीएमडब्लू,कंपास, मर्सिडीज, मसटैंग जैसी लग्जरी गाड़ियां रखता था। उससे चार गाड़ियां बरामद की हैं। ये लोगों को अपनी शान ओ शौकत दिखाते थे, ताकि लोगों का विश्वास जीत सके। इनके पास से NSG की फर्जी लेटर हेड, जिसके आधार पर बैंक अकाउंट खुलवाया, वह भी मिला है।

शेयर मार्केट में करता था काम, घाटा लगा तो करने लगा ठगी

आरोपी मानसेर कॉम्प्लेक्स में डेपुटेशन पर BSF का डिप्टी कमांडेंट रहा। आरोपी शेयर मार्केट में काम करता था। उसमें नुकसान हुआ तो भरपाई के लिए NSG के नाम पर फर्जी अकाउंट AXIS बैंक में खोला और मानेसर में रोड, स्टाफ क्वार्टर बनाने के विज्ञापन दिए। उसमें पैसा ट्रांसफर करते थे। पत्नी ममता यादव और बहन रितुराज यादव कंपनी की डायरेक्टर है।

खबरें और भी हैं...