पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • CBI Did Not File Chargesheet In 60 Days, Both The Accused Got Bail From The Court, CBI Arrested Them Two Months Ago.

10 लाख रिश्वत मामला:CBI ने 60 दिनों में फाइल नहीं की चार्जशीट, दोनों आरोपियों को कोर्ट से मिल गई जमानत,दो महीने पहले किया था CBI ने गिरफ्तार

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
CBIने अंबाला की फेंटेंसी गेमिंग टेक्नोलॉजी के डायरेक्टर मोहित शर्मा की शिकायत पर केस दर्ज किया था।  - Dainik Bhaskar
CBIने अंबाला की फेंटेंसी गेमिंग टेक्नोलॉजी के डायरेक्टर मोहित शर्मा की शिकायत पर केस दर्ज किया था। 

10 लाख रुपए की रिश्वत के मामले में जेल में बंद दो आरोपियों दिलबाग सिंह और अनिल मोर को मंगलवार को CBI की स्पेशल कोर्ट से जमानत मिल गई। इन दोनों के खिलाफ CBI को 60 दिनों के भीतर चार्जशीट कोर्ट में फाइल करनी थी। लेकिन CBI ने अभी तक जांच ही पूरी नहीं की। CBI के चार्जशीट फाइल न करने पर दोनों आरोपियों ने कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी जिसे कोर्ट ने मंजूरी दे दी थी।

आरोपियों के वकील विशाल गर्ग नरवाणा ने बताया कि कानून के मुताबिक अगर जांच एजेंसी 2 महीने में चार्जशीट फाइल नहीं करती तो आरोपी जमानत के हकदार हो जाते हैं। इसी आधार पर उन्होंने दोनों आरोपियों की जमानत याचिका कोर्ट में दायर की थी। हालांकि एक आरोपी दिलबाग सिंह की जमानत याचिका कोर्ट ने पहले खारिज कर दी थी लेकिन अब उसने दोबारा याचिका दायर की।

ये है मामला

CBI ने अंबाला की फेंटेंसी गेमिंग टेक्नोलॉजी के डायरेक्टर मोहित शर्मा की शिकायत पर केस दर्ज किया था। शिकायत में मोहित ने बताया था कि जीरकपुर पुलिस ने एक केस पर कार्रवाई करते हुए उनके बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए थे। उनके बैंक अकाउंट को दोबारा से खुलवाने के नाम पर मोर और उसके साथियों ने 50 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। मोहित ने पहले साढ़े 12 लाख रुपए तो आरोपियों को दे दिए थे और बाकी 10 लाख रुपए लेने के लिए जब उन्होंने मोहित को बुलाया तो CBI ने ट्रैप लगाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...