• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Chadhuni Said, Got A Call From The Ministry Of Home Affairs, The Condition Laid Before The Announcement Of Getting Up From The Movement

CM मनोहर से नहीं होगी किसानों की मीटिंग:चढूनी बोले- गृह मंत्रालय से फोन आया; पहले आंदोलन से उठने की घोषणा करने की रखी शर्त

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिंघु बॉर्डर पर हुई बैठक को संबोधित करते चढूनी। - Dainik Bhaskar
सिंघु बॉर्डर पर हुई बैठक को संबोधित करते चढूनी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की किसान नेताओं से होने वाली बैठक पर संशय है। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने स्पष्ट किया है कि गृह मंत्रालय से कॉल आई थी कि शाम पांच बजे CM से मिल सकते हैं। यदि उससे पहले आप उठने की घोषणा कर सकते हैं तो आप मिल सकते हो।

चढूनी ने कहा कि उन्होंने साफ कर दिया कि पहले सरकार केस वापसी की बात करे और मांगें पूरी करने की घोषणा करे। इसलिए मुख्यमंत्री से मिलने से इनकार कर दिया।

चढूनी ने कहा कि हरियाणा के सीएम से कोई फोन नहीं आया। जब तक मांगें पूरी नहीं होंगी, तब तक आंदोलन खत्म नहीं होगा। हालांकि इससे पहले संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने कहा था कि किसान आंदोलन पर सीएम हरियाणा के साथ उनकी बुधवार को बैठक होगी।

बुधवार को सिंघु बॉर्डर पर हुई बैठक में मौजूद चढूनी व अन्य।
बुधवार को सिंघु बॉर्डर पर हुई बैठक में मौजूद चढूनी व अन्य।

चढूनी पहले ही कह चुके हैं केस वापस लेने पर हटेंगे

हरियाणा के किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि हरियाणा के किसान बॉर्डर से तब तक नहीं लौटेंगे, जब तक कि किसान आंदोलन में दर्ज हुए मुकदमे वापस नहीं लिए जाते। यदि सरकार ने अब मुकदमे वापस नहीं लिए तो जाट आंदोलन की तरह बाद में मुकदमे भुगतने पड़ेंगे। हालांकि सीएम मनोहर लाल भी मंगलवार को यह बात कह चुके हैं कि मुकदमे को लेकर डाटा जुटाया रहा है।

खबरें और भी हैं...