पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत की खबर:कोरोना के कम एक्टिव मामलों में चंडीगढ़ देश में तीसरे नंबर पर

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुधवार काे 35 मरीज हुए ठीक, एक साल बाद 100 से कम एक्टिव केस हुए, अब 99 ही बीमार

चंडीगढ़ में काेराेना संक्रमण केस केस कम हाेने के साथ ही एक्टिव केस भी 100 से नीचे आ गए हैं। पिछले एक साल में ऐसा पहली बार हुआ है, जब शहर में एक दिन में एक्टिव केस 100 से घटकर 99 रह गए हैं। कम एक्टिव केस में अंडमान एंड निकाेबार द्वीप समूह (14) और दादरा एंड नगर हवेली और दमन और दमन दीव (38) के बाद चंडीगढ़ तीसरे नंबर पर है।

बुधवार काे शहर में 99 एक्टिव केस पाए गए। इनका इलाज चल रहा है। इससे पहले पिछले साल 7 जुलाई काे एक्टिव केस 84 रह गए थे। पिछले साल कोरोना की पहली लहर के दाैरान 17 सितंबर काे एक्टिव केस 3075 हाे गए थाे, जाे कि इस साल कम हाेकर 123 रह गए थे। वहीं सेकंड वेव की बात करें ताे 11 मई काे एक्टिव केस बढ़कर 8625 हाे गए थे।

57 दिन में 8625 से घटकर 99 रह गए एक्टिव केस

शहर के लिए यह सुखद खबर है कि मात्र 57 दिन में एक्टिव केस 8625 से घटकर मात्र 99 रह गए हैं। वर्तमान 100 सस्पेक्टेड मरीजाें में 0.2 फीसदी लाेग ही पाॅजिटिव पाए जा रहे हैं। इसके साथ ही रिकवरी रेट 98.5 फीसदी हाे गया है।

75000 डाेज आई| बुधवार काे हेल्थ डिपार्टमेंट काे केंद्र से 75000 वैक्सीन की डाेज मिली है। डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज डाॅ. कंग ने बताया कि चंडीगढ़ में वैक्सीन का काेई संकट नहीं है। ज्यादा से ज्यादा लाेगाें काे वैक्सीन लगवानी चाहिए।

हाॅस्पिटल में खाली पड़े हैं बेड

जीएमसीएच-32 में 58 ऑक्सीजन सुविधा वाले बेड्स में मात्र 9 पर ही मरीज हैं, जबकि पीजीआई में ऑक्सीजन सुविधा के साथ 249 बेड हैं, जिन पर मात्र 44 पर ही काेविड पाॅजिटिव मरीज हैं। 205 बेड खाली पड़े हैं। जीएमएसएच-16 में 242 बेड में से 28 पर ही काेविड मरीज हैं, जबकि 214 खाली पड़े हैं।

सिविल हाॅस्पिटल-45 में 42 बेड हैं सभी खाली हैं। यही नहीं प्राइवेट हाॅस्पिटल में भी एक भी काेविड पाॅजिटिव मरीज नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...