चंडीगढ़ के शिवालिक व्यू होटल में बम की सूचना:हथियारों के साथ कमांडो देख थम गई लोगों की सांसें, पुलिस ने सील किया होटल, डॉग स्क्वॉड ने चप्पा-चप्पा खंगाला

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बम की सूचना पर मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी। - Dainik Bhaskar
बम की सूचना पर मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी।

चंडीगढ़ में होटल शिवालिक व्यू में बम की सूचना मिलने पर शुक्रवार को पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर फायर ब्रिगेड, डॉग स्क्वॉड समेत 100 पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और इलाके को सील कर दिया। साथ ही होटल के अंदर काम कर रहे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। हालांकि, किसी को जानी नुकसान नहीं हुआ है। बाद में पता चला कि ये मॉकड्रिल थी। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम में शुक्रवार को एक फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि होटल शिवालिक व्यू के सेकेंड फ्लोर पर बम है। इस सूचना का मैसेज फ्लैश होते ही अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। तत्काल प्रभाव से फायर ब्रिगेड और डॉग स्क्वॉड को मौके पर पहुंचने को कहा गया। पुलिस की गाड़ियां भी मौके पर पहुंची। पुलिस ने होटल शिवालिक व्यू को सील करते हुए लोगों को बाहर निकाला। वहीं यह सब देखकर बाहर सड़क पर लोगों की भीड़ जमा हो गई थी।

मौक पर पहुंचे एसएचओ टीम को समझाते हुए
मौक पर पहुंचे एसएचओ टीम को समझाते हुए

कार्रवाई मॉकड्रिल निकली

पुलिस के अनुसार, पूरी कार्रवाई होने के बाद जब लोगों को बताया गया कि यह एक मॉकड्रिल थी तो उनकी सांस में सांस आई। दरअसल, हर साल 15 अगस्त से पहले चंडीगढ़ में बम की सूचना पर मॉकड्रिल की जाती है। बुधवार को भी मॉकड्रिल की गई, ताकि जवान स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पूरी तरह स्तर्क रहें।

डीएसपी चरणजीत सिंह विर्क थाना प्रभारी को समझाते हुए
डीएसपी चरणजीत सिंह विर्क थाना प्रभारी को समझाते हुए

सेक्टर-34 के रेडियों स्टेशन में भी हुई थी मॉकड्रिल
बता दें कि अभी हाल ही में सेक्टर-34 स्थित रेडियो स्टेशन में भी बम मिलने की सूचना मिली थी। जिसमें पुलिस टीम ने लगभग दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद बम को सुरक्षित बाहर निकाला था। वहीं बाद में पता चला था कि यहां पर कोई बम नहीं है। बल्कि यह सोची समझी रणनीति के तहत की गई एक मॉकड्रिल थी। इसीके साथ सेक्टर-37 स्थित दूरदर्शन केंद्र में भी बम मिलने की सूचना पर पुलिस टीम लगभग 2 घंटों तक सर्च अभियान चलाया था। वहीं डिस्ट्रिक कोर्ट की ओल्ड बिल्डिंग में भी मॉकड्रिल किया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...