स्पोर्ट्स / केंद्र सरकार की परमिशन के बाद स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स को खोल दिया गया , दो गज दूरी के साथ चंडीगढ़ का खेल शुरू

Chandigarh's game starts with two yards
X
Chandigarh's game starts with two yards

  • 66 दिन के इंतजार के बाद चंडीगढ़ में 6 गेम्स की ट्रेनिंग शुरू, डिपार्टमेंट ने गेम्स को 3 कैटेगरी में बांटा
  • स्क्रीनिंग के साथ ही मिलेगी एथलीट्स को ट्रेनिंग जोन में एंट्री

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:49 AM IST

चंडीगढ़. (गौरव मारवाह) कोविड-19 के कारण पूरी दुनिया के स्पोर्ट्स इवेंट्स पर असर पड़ा। सभी कंपीटिशन पोस्टपोन कर दिए गए और ट्रेनिंग भी रोक दी गई थी। चंडीगढ़ ने भी अपने एथलीट्स की ट्रेनिंग पर 19 मार्च को पूरी तरह से रोक लगा दी थी और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स पर नोटिस के साथ लॉकडाउन से पहले ही लॉक लगा दिया गया था। अब लॉकडाउन 4.0 में केंद्र सरकार की परमिशन के बाद स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स को खोल दिया गया है और 66 दिन के लंबे इंतजार के बाद चंडीगढ़ के एथलीट्स ने ट्रेनिंग शुरू की है। 
 यूटी स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट ने एथलीट्स और कोचेज के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) को रिलीज किया है। सेफ्टी का यूटी स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट ने पूरा ध्यान रखते हुए 6 गेम्स के साथ ट्रेनिंग शुरू की है। इन गेम्स में बैडमिंटन, टेबल टेनिस, टेनिस, आर्चरी, एथलेटिक्स और वेटलिफ्टिंग शामिल है। गोल्फ पहले ही शुरू हो चुका है। एथलीट्स को मास्क और ग्लव्ज के साथ दो गज की दूरी(1.5 से 2 मीटर) रखते हुए ट्रेनिंग शुरू करवाई गई है। उन्हें इक्विपमेंट्स भी अपने ही यूज करने हैं और आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल करना सभी के लिए जरूरी किया गया है। 6 गेम्स के लिए कई सेंटर ओपन किए गए हैं लेकिन स्विमिंग पूल और जिम्नेजियम अभी भी बंद ही रहेंगे।

पहले दिन 10 एथलीट्स के साथ ट्रेनिंग
सभी सेंटर पर पहले दिन दस ही एथलीट्स के साथ ट्रेनिंग को शुरू किया गया। यहां पर एथलीट्स के लिए सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया था। उनके बैठने और सामान रखने की जगह तक अलग रखी गई। इंडिविजुअल बेसिस पर ही ट्रेनिंग एथलीट्स ने की और आगे भी फिलहाल यही जारी रहेगा। सोमवार से दो सेशन में ट्रेनिंग होगी। कुछ एथलीट्स को मॉर्निंग सेशन में कॉल किया जाएगा तो कुछ एथलीट्स को शाम के समय ट्रेनिंग के लिए बुलाया जाएगा। 

3 कैटेगरी में बांटी गेम्स
कैटेगरी-1: इंडिविजुअल स्पोर्ट्स जिसमें ट्रेनिंग और कंपीटिशन के दौरान फिजिकल कॉन्टेक्ट न हो और इक्विपमेंट्स शेयर न किए जाएं
गेम्स: आर्चरी, शूटिंग, साइक्लिंग, फेंसिंग, एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, लॉन टेनिस, गोल्फ, बैडमिंटन और टेबल टेनिस
कैटेगरी-2: टीम गेम्स जिसमें फिजिकल कॉन्टेक्ट काफी कम हो, ट्रेनिंग और कंपीटिशन के दौरान इक्विपमेंट्स को शेयर किया जाता हो
गेम्स फुटबॉल, हॉकी, वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, हैंडबॉल, क्रिकेट, स्क्वॉश, स्केटिंग, जिम्नास्टिक
कैटेगरी-3: इंडिविजुअल स्पोर्ट्स जिसमें कॉम्बेट गेम्स भी शामिल हैं, इसमें ट्रेनिंग के दौरान फिजिकल कॉन्टेक्ट काफी ज्यादा होता है
गेम्स: बॉक्सिंग, जूडो, वुशू, कराटे, ताइक्वांडो, रेसलिंग, रोइंग

प्रीकॉशन रखने जरूरी

  • एथलीट्स को दो गज की दूरी(1.5 से 2 मीटर) बनाना बेहद जरूरी

  • एथलीट्स के लिए इक्विपमेंट्स सिंगल यूज होंगे, री-यूज के लिए उन्हें क्लीन किया जाना जरूरी
  • हैंडशेक, हाईफाइव, टैक्लिंग, स्पारिंग आदि ट्रेनिंग के दौरान कोई एथलीट नहीं कर सकता
  • एथलीट्स ट्रेनिंग जोन में थूकना और नाक साफ नहीं कर सकते
  • ट्रेनिंग को कोच की प्लानिंग के अनुसार ही किया जा सकता है
  • फैंस, स्पेक्टेटर्स, पेरेंट्स आदि का ट्रेनिंग सेंटर में आना पूरी तरह से मना किया गया है
  • कंपीटिशन और अन्य एक्टिविटी की इजाजत नहीं दी गई है
  • ग्रुप में ट्रेनिंग करना और ग्रुप में कुछ खाने की इजाजत भी नहीं दी गई है

इसकी परमिशन नहीं

  • जिम्नेजियम को अभी तक खोलने की परमिशन नहीं है
  • हॉकी, क्रिकेट, फुटबॉल एकेडमी अभी ओपन नहीं होंगी
  • स्विमिंग पूल, वाटर और एक्वेटिक स्पोर्ट्स भी बंद रहेंगे
  • कॉम्प्लेक्स में एसी नहीं चलाए जाएंगे, विंडो ओपन रहेंगी
  • बिमार होने पर किसी एथलीट को ट्रेनिंग करने की इजाजत नहीं होगी, उसे कोच को बताना होगा

हाईजीन रखना जरूरी

  • ट्रेनीज को आरोग्य सेतु एप के साथ ही सेंटर में एंट्री मिलेगी
  • एथलीट्स को सेनिटाइजर, मास्क, ग्लव्ज के साथ ही ट्रेनिंग जोन में आना होगा
  • टेंपरेचर चेक के साथ शूज को एंट्री पॉइंट पर सेनिटाइज किया जाएगा
  • पीने का पानी साथ लेकर आना है और टॉवल भी साथ में रखें
  • प्लेयर्स अपने इक्विपमेंट्स साथ में रखें और उसे ही यूज करें
  • 65 साल से ज्यादा के ऑफिशियल्स और 10 साल से छोटे ट्रेनीज को अभी परमिशन नहीं दी गई है
  • हमने कैटेगरी-1 गेम्स की ट्रेनिंग शुरू कर दी है और सभी की सुरक्षा का भी ध्यान रखा है। हम आने वाले दिनों में रूल्स एंड रेगुलेशन के साथ अन्य कॉम्प्लेक्स व गेम्स के लिए भी काम करेंगे। उनकी भी ट्रेनिंग को जल्द शुरू कर दिया जाएगा। -तेजदीप सिंह सैनी, डायरेक्टर स्पोर्ट्स, यूटी
  • एथलीट्स की सेफ्टी का पूरा ध्यान रखते हुए हमने चंडीगढ़ में ट्रेनिंग शुरू की है। ट्रेनिंग को मिनिस्ट्री और साई के आदेशों की पालना के साथ ही शुरू किया गया है। हम अन्य गेम्स के लिए भी प्लानिंग करेंगे और मैं खुद सेफ्टी का जायजा लूंगा। -रविंदर सिंह, डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स ऑफिसर, यूटी

मोहाली...पंजाब ने एथलेटिक्स, योग और गोल्फ के साथ शुरू की ट्रेनिंग
लॉकडाउन 4.0 में पंजाब ने भी ट्रेनिंग शुरू करने का फैसला किया है और स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर(एसओपी) जारी कर प्लेयरर्स को ट्रेनिंग की परमिशन दे दी है। पंजाब स्पोर्ट्स एंड यूथ डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी हुसन लाल ने एसओपी को रिलीज किया। आदेश में कहा गया है कि प्लेयर्स डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स ऑफिसर की परमिशन के बाद ही ट्रेनिंग करने के लिए आएंगे। अभी सिर्फ एथलेटिक्स, योग और गोल्फ के साथ शुरुआत करने को कहा गया है।  

पंजाब एसओपी में ये:

  • केवल एथलेटिक्स,गोल्फ, योग शुरू होंगे, थर्मल स्क्रीनिंग के साथ ही एंट्री मिलेगी

  • प्रैक्टिस के लिए केवल लोकल प्लेयर आएगे, गेट पर ही सेनिटाइज करवाया जाएगा
  • योग मैट और पानी की बोतल खुद ही लानी होगी, डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना जरूरी
  • लोकल प्लेयर ही ट्रेनिंग के लिए आ सकते हैं, अपने इक्विपमेंट्स के साथ लाने होंगे

पंचकूला...हरियाणा में बैडमिंटन और एथलेटिक्स की शुरू की गई ट्रेनिंग
हरियाणा प्लेयर्स की ट्रेनिंग को शुरू कर चुका है और पंचकूला में अभी बैडमिंटन व एथलेटिक्स के साथ ट्रेनिंग हो रही है। कुछ कॉम्बेट गेम्स की भी ट्रेनिंग को शुरू करने का फैसला किया गया है। पंचकूला डीएसओ एन. सत्यन ने कहा कि हमने अभी कुछ ही गेम्स के साथ शुरुआत की है। एथलेटिक्स और बैडमिंटन में एक दूसरे के साथ संपर्क में आना मुश्किल होता है, इसलिए हमने पहले इन्हीं की ट्रेनिंग का आगाज किया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना