• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • City's First Bird Park Will Open After Monsoon, People Will Be Able To See 1500 Birds Of 47 Species Here

सुखना और राॅक गार्डन के बीच नया टूरिस्ट स्पाॅट:मानसून के बाद खुलेगा शहर का पहला बर्ड पार्क, यहां 47 प्रजातियों के 1500 बर्ड्स देख सकेंगे लोग

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बर्ड पार्क में 47 अलग-अलग प्रजातियों के 1500 विदेशी पक्षी देख सकेंगे लोग। - Dainik Bhaskar
बर्ड पार्क में 47 अलग-अलग प्रजातियों के 1500 विदेशी पक्षी देख सकेंगे लोग।
  • कुछ बर्ड लाए गए, कुछ दिनों के लिए क्वारेंटाइन, करीब 5 एकड़ जमीन में तैयार किया गया है ये बर्ड पार्क

जल्द ही आप सुखना लेक घूमने के बाद यहां 5 एकड़ जमीन पर बने बर्ड पार्क में भी घूम सकेंगे। मॉनसून सीजन के बाद चंडीगढ़ का पहला बर्ड पार्क लोगों के लिए खुल जाएगा। यहां पर 47 अलग-अलग प्रजातियों के 1500 विदेशी पक्षी लोग देख सकेंगे। स्मृति उपवन, जिसे अभी सिटी फाॅरेस्ट के नाम से जाना जाता है उसे ही प्रशासन बर्ड पार्क के तौर पर डेवलप कर रहा है। ये सुखना लेक और राॅक गार्डन के बीच नया टूरिस्ट स्पाॅट होगा। इस पार्क का काम लगभग पूरा हो चुका है। अब एग्जॉटिक बर्ड्स को लाया जा रहा है।

कुछ पक्षी लाए गए, अभी क्वारेंटाइन
अभी इस एवियरी के लिए कुछ पक्षी चंडीगढ़ लाए गए हैं, जिन्हें कोरोना के मद्देनजर एहतियात बरतते हुए क्वारेंटाइन किया गया है। देश-दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से लाए गए इन बर्ड्स को कोविड गाइडलाइंस के तहत क्वारेंटाइन करना जरूरी है।

इन एग्जॉटिक बर्ड्स को देख सकेंगे
फिंच, वुड डक, मकाओ, लोरीकीट, फननोर व स्वान जैसे पक्षियों की अलग-अलग प्रजातियां देखने को मिलेंगी। इनमें से कई तरह के पक्षियों को यहां पर पहुंचा दिया गया है।

विदेशी पक्षी जो यहां के मौसम में भी ढल जाएंगे
इस एवियरी में कौन सी बर्ड्स रखी जाएं, यह तय करने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया था। इस कमेटी की देखरेख में ही अलग-अलग प्रजाति के वो बर्ड्स लाए गए हैं जो यहां के मौसम और माहौल में भली-भांति ढल जाएं।

2001 तक मिनी जू था चंडीगढ़ में
चंडीगढ़ में वर्ष 2000-2001 तक मिनी जू भी था। पंजाब राजभवन के साथ वाले एरिया में जहां अब यूटी गेस्ट हाउस और बाकी बिल्डिंग्स हैं वहां पर ये जू था। लेकिन बाद में इस जू को बंद कर दिया गया। अब चंडीगढ़ में बनने वाला ये बर्ड पार्क चंडीगढ़ आने वाले लोगों के लिए बड़ा टूरिस्ट स्पाॅट बन सकता है क्योंकि यहां पक्षियों को देखने के साथ साथ सिटी फाॅरेस्ट में ट्रैकिंग भी कर सकेंगे और साथ ही यहां सांभर व अन्य वन्यजीव भी दिख जाते हैं।

खबरें और भी हैं...