पंजाब-चंडीगढ़ बॉर्डर पर टकराव:कैप्टन का सरकारी आवास घेरने जा रहे थे टीचर्स; पुलिस ने घुसने नहीं दिया, वाटर कैनन और टियर गैस से खदेड़ा

चंडीगढ़3 महीने पहले
पंजाब के विभिन्न हिस्सों से आए अस्थायी टीचर्स ने मुख्यमंत्री आवास घेरने को लिए चंडीगढ़ में घुसने का प्रयास किया तो पुलिस ने आंसू गैस और पानी की बौछार की। फोटो लखवंत सिंह ।

पंजाब और चंडीगढ़ के बॉर्डर पर मंगलवार दोपहर को अस्थाई शिक्षकों का पुलिस से टकराव हो गया। शिक्षक पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के सरकारी आवास का घेराव करने मोहाली से चंडीगढ़ आ रहे थे, लेकिन चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें शहर में घुसने ही नहीं दिया, बल्कि पानी की बौछारों और आंसू गैस के गोले फेंककर उन्हें खदेड़ने की कोशिश की।

काफी संख्या में अस्थायी टीचर प्रदर्शन करने पहुंचे
काफी संख्या में अस्थायी टीचर प्रदर्शन करने पहुंचे
चंडीगढ़ बॉर्डर पर चंडीगढ़ पुलिस ने आंसू गैस और पानी की बौछार की
चंडीगढ़ बॉर्डर पर चंडीगढ़ पुलिस ने आंसू गैस और पानी की बौछार की
पंजाब पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया लेकिन टीचर आगे निकल गए
पंजाब पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया लेकिन टीचर आगे निकल गए

टीचर्स भी बॉर्डर पर ही डट गए और बार-बार चंडीगढ़ में घुसने की कोशिश करते रहे। पुलिस ने भी उन्हें रोकने के लिए पूरी जोर आजमाइश की। इस दौरान चंडीगढ़ पुलिस के जवानों और शिक्षकों को चोटें भी आईं। कई महिला शिक्षकों के कपड़े फट गए। हालत इतने खराब हो गए कि SSP चंडीगढ़ कुलदीप सिंह चहल को मौके पर आना पड़ा। मोहाली SSP सतिंदर सिंह भी पहुंचे।

एक हाथ से अपाहिज टीचर ने बैरिकेड को हटाया तो पुलिस ने उन्हें रोका
एक हाथ से अपाहिज टीचर ने बैरिकेड को हटाया तो पुलिस ने उन्हें रोका

दोनों अधिकारियों ने मिलकर शिक्षकों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। बता दें कि पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (PSEB) के बाहर पिछले कई दिनों से पंजाब के अलग-अलग जिलों के शिक्षक स्थायी नौकरी की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं। कुछ शिक्षक पेट्रोल की बोतलें लेकर शिक्षा विभाग के कार्यालय की छत पर बैठे हैं। उन्होंने मांगें पूरी न होने पर आत्मदाह करने की चेतावनी दे रखी है।

पंजाब पुलिस को काफी संख्या में लगाया गया लेकिन अस्थायी टीचर आगे निकल गए
पंजाब पुलिस को काफी संख्या में लगाया गया लेकिन अस्थायी टीचर आगे निकल गए

इस बीच मंगलवार को शिक्षकों और पंजाब सरकार के बीच बैठक होनी तय हुई थी, जो सुबह होनी थी, लेकिन पहले इसका समय बदल दिया गया और बाद में इसे रद्द कर दिया गया। इससे शिक्षक भड़क गए और वे इकट्‌ठे होकर चंडीगढ़ की ओर से बढ़ने लगे। इसकी जानकारी मिलते ही मोहाली पुलिस YPS चौंक पर जुटी गई और शिक्षकों को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम हो गई।

टीचर्स ने बैरिकेड को हटा कर आगे निकले
टीचर्स ने बैरिकेड को हटा कर आगे निकले

शिक्षक मोहाली पुलिस से भिड़ते हुए चंडीगढ़ बॉर्डर पर गीताभवन मंदिर के पास पहुंच गए। यहां चंडीगढ़ पुलिस ने बैरिकेडिंग कर रख थी, जहां फिर से शिक्षकों का पुलिस के साथ टकराव हुआ। चंडीगढ़ पुलिस ने चेतावनी दी, लेकिन शिक्षक नहीं माने। वे जबरन घुसने की कोशिश कर रहे थे। इसलिए पुलिस ने भी उग्र रवैया अपना लिया और शिक्षकों को चंडीगढ़ में घुसने ही नहीं दिया।

पंजाब पुलिस रोक नहीं पाई
पंजाब पुलिस रोक नहीं पाई
खबरें और भी हैं...