फरीदाबाद MC में घपले की जांच विजिलेंस को:सीएम की मंजूरी के बाद गृहमंत्री ने दिए आदेश, कर्मचारियों पर भ्रष्ट तरीके से संपत्ति बनाने के आरोप

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के फरीदाबाद नगर निगम (MC) में अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की जांच विजिलेंस ब्यूरो करेगा। हरियाणा के गृह एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ने इस संबंध में विजिलेंस ब्यूरो को आदेश दे दिए हैं। विज ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस मामले की जांच विजिलेंस ब्यूरो से करवाने की अनुमति दे दी है।

विज के अनुसार, उनके पास पिछले दिनों फरीदाबाद एनआईटी की जवाहर कॉलोनी में रहने वाले राजेन्द्र सिंह ने फरीदाबाद नगर निगम के जेडटीओ रतन लाल रोहिल्ला, असिस्टेंट महेन्द्र कुमार व संजय कुमार और क्लर्क नरेश कुमार को लेकर शिकायत भेजी। इस शिकायत के अनुसार, इन सरकारी कर्मचारियों ने अपने कार्यकाल में भारी-भरकम भ्रष्टाचार करके संपत्ति अर्जित की। इससे फरीदाबाद नगर निगम को राजस्व में हानि हुई।

गृहमंत्री ने बताया कि इन सरकारी कर्मचारियों की ओर से अनधिकृत तरीके से कमाई गई संपत्ति और सरकार को हुए नुकसान की जांच के लिए विजिलेंस ब्यूरो को आदेश दिए जा चुके हैं। वह इस मामले में दूध का दूध और पानी का पानी करके रहेंगे।

विज नहीं हुए जांच से संतुष्ट

फरीदाबाद नगर निगम के कमिश्नर ने इसी मामले में निगम के तत्कालीन एडिशनल कमिश्नर इंद्रजीत कुल्हेरिया से भी जांच करवाई थी। उस जांच रिपोर्ट में कहा गया कि इन सरकारी कर्मचारियों पर लगाए गए आरोप आधारहीन और मनगढ़ंत हैं। इन कर्मचारियों के कार्यकाल के दौरान किसी तरह की अनियमितताएं नहीं बरती गई। हालांकि इस जांच से अनिल विज संतुष्ट नहीं हुए और उन्होंने मामले की जांच विजिलेंस ब्यूरो से करवाने की फाइल सीएम को भेज दी। सीएम मनोहर लाल ने इसकी अनुमति दे दी है।

खबरें और भी हैं...