जिला स्तरीय समितियों का गठन:सीएम ने सरकारी योजनाओं को लागू करवाने के लिए 16 मंत्रियों की लगाई ड्यूटी

चंडीगढ़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने जिला स्तरीय समितियों का गठन कर अपने मंत्रियों को जिम्मेदारी सौंपी है। 16 मंत्रियों को 23 जिलों का प्रभार दिया गया है। ये मंत्री इन जिलों में सरकार के विकास कार्यों और जनकल्याणकारी योजनाओं की निगरानी करेंगे और सभी योजनाओं का उचित ढंग से सुनिश्चित करेंगे।

मुख्यमंत्री ने दो जिलों की जिम्मेदारी कुछ मंत्रियों को दी है। उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को फिरोजपुर और मुक्तसर, ओपी सोनी को जालंधर। मनप्रीत सिंह बादल को लुधियाना और रोपड़, ब्रह्म मोहिंद्रा को एसएएस नगर, अरुणा चौधरी को होशियारपुर और पठानकोट।

तृप्प राजिंदर सिंह बाजवा को अमृतसर और तरनतारन, सुखबिंदर सिंह सरकारिया को गुरदासपुर और फाजिल्का, राणा गुरजीत सिंह को बरनाला और मोगा, विजय इंदर सिंगला को फतेहगढ़ साहिब, राजकुमार वेरका को पटियाला, परगट सिंह को मलेरकोटला, भारत भूषण आशु को संगरूर और फरीदकोट, रणदीप सिंह नाभा को कपूरथला, संगत सिंह गिलजियां एसबीएस नगर, बठिंडा की गुरकीरत सिंह कोटली और मानसा जिले के अमरिंदर सिंह राजा वडिंग को प्रभार दिया गया है।

23 आईएएस अफसरों को जिला प्रभारी बनाया

प्रशासनिक फेरबदल के क्रम को जारी रखते हुए सरकार ने 23 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को जिलों में खरीद, भुगतान, कोरोना प्रतियोगिता और विकास परियोजनाओं और जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रबंधन के लिए जिला सचिवों के रूप में नियुक्त किया है। इन अधिकारियों को मार्च 2022 तक जिम्मेदारी सौंपी गई है। सभी अधिकारी अपने-अपने जिलों में फसल उपार्जन की व्यवस्था करने के साथ-साथ किसानों को उनकी फसल का भुगतान समय पर सुनिश्चित करेंगे।

खबरें और भी हैं...