HSSC की 86 भर्तियों का रिजल्ट शेष:31 दिसंबर तक 5 अंक के लिए किए झूठे दावे वापस लेने का मौका, नहीं तो परिणाम भुगतना पड़ेगा

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल खदरी इस बार भर्तियों को लेकर काफी सख्त हैं। - Dainik Bhaskar
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल खदरी इस बार भर्तियों को लेकर काफी सख्त हैं।

हरियाणा पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती में सोशो इकोनॉमिक आधार पर झूठे दावे करके 5 अंक लेने के मामले सामने आए थे। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग मौजूदा समय में करीब 86 भर्ती प्रकिया पूरी कर रहा है। अब आयोग ने इन भर्ती प्रकिया का रिजल्ट घोषित करना है, लेकिन सोशो इकोनॉमिक आधार पर सरकारी नौकरी के लिए 5 अंक लेने का झूठा दावा करने वालों को एक मौका दिया गया है।

जिन आवेदकों ने पहले अपने परिवार में सरकारी नौकरी न होने का दावा किया है, वे इस दावे को वापस ले सकते हैं। आयोग ने 27 दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक का समय दिया है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने कहा कि जिन लोगों ने सोशल इकोनॉमिक आधार पर 5 अंक का दावा किया, परंतु अभी तक संबंधित डॉक्यूमेंट जमा नहीं करवाए। वे अपने डॉक्यूमेंट 27 दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक पंचकूला परेड ग्राउंड में जमा करवा सकते हैं। नहीं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पांच अंक का नियम

उम्मीदवार के परिवार, माता-पिता, पत्नी, भाई और बेटा किसी बोर्ड, विभाग, कोरपोरेशन, सरकारी कंपनी, कमीशन हरियाणा, दूसरे राज्य या भारत सरकार में काम न करता हों, वह 5 अंक लेने का हकदार नहीं है। उम्मीदवार का परिवार यदि सरकारी नौकरी में है और उसका परिवार पहचान पत्र या फैमिली आईडी या राशन कार्ड अलग भी हो, तब भी वह सोशो इकोनॉमिक आधार के लिए योग्य नहीं है। महिला उम्मीदवार को बायोलॉजिकल परिवार के आधार पर अंक मिलेंगे, न कि ससुराल पक्ष में।

सब इंस्पेक्टर की परीक्षा में 50 ने किए थे झूठे दावे

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने करीब 400 सब इंस्पेक्टर व 65 महिला सब इंस्पेक्टर के पदों पर भर्ती की थी। सामाजिक आर्थिक आधार पर पांच अंक के लिए करीब 360 उम्मीदवारों ने शपथ पत्र दिए थे कि उनके परिवारों में सरकारी नौकरी नहीं है। आयोग ने जब इसकी जांच करवाई तो करीब 50 चयनित उम्मीदवार ऐसे मिले, जिनके दावे झूठे थे। आयोग ने इन्हें भर्ती प्रकिया से बाहर कर दिया है।

खबरें और भी हैं...