• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Congress MP Manish Tewari Said Government Should Issue A List Of Transfers From Patwari To Chief Secretary In The Last 70 Days

पंजाब में तबादलों पर घमासान:कांग्रेस MP मनीष तिवारी बोले- 70 दिन में पटवारी से चीफ सेक्रेटरी तक के ट्रांसफर की लिस्ट जारी करे सरकार

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में अफसरों के ताबड़तोड़ ट्रांसफर को लेकर घमासान मच गया है। श्रीआनंदपुर साहिब से कांग्रेस MP मनीष तिवारी ने सरकार से इसका हिसाब मांगा है। तिवारी ने चन्नी सरकार से 70 दिनों में अफसरों के तबादले की लिस्ट जारी करने को कहा है।

चरणजीत चन्नी को CM बने अभी 70 दिन ही हुए हैं। ऐसे में यह सीधे तौर पर सरकार की ट्रांसफर पॉलिसी को लेकर सवाल उठाने से जोड़कर देखा जा रहा है। तिवारी पहले भी पंजाब में सरकार पर हमला कर चुके हैं। इसके अलावा वह पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू और उनके बयानों का भी विरोध करते रहे हैं।

मनीष तिवारी का ट्वीट
मनीष तिवारी का ट्वीट

तिवारी ने कहा - मैंने जिन्हें बुलाया, वे बोले- हमारी ट्रांसफर हो गई

सांसद तिवारी ने कहा कि मैंने लोगों के कामकाज के लिए सुबह 7 बजे कुछ अफसरों को बुलाया। उनका दावा है कि हमारी ट्रांसफर हो गई है। मैं जानना चाहता हूं कि यह सच है या झूठ। तिवारी ने पंजाब सरकार से मांग भी की कि 70 दिनों में पटवारी से लेकर चीफ सेक्रेटरी तक के ट्रांसफर की कंप्लीट लिस्ट जारी करें।

सांसद ने ट्वीट की मीडिया रिपोर्ट

सांसद तिवारी ने एक मीडिया रिपोर्ट भी ट्वीट की। इसमें यह सवाल थे कि सत्ता बदलने के बाद अफसरों के ट्रांसफर सही हैं या गलत। इसमें कहा गया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की जगह चरणजीत चन्नी के CM बनते ही अफसरों के ट्रांसफर कर दिए गए। अमृतसर, जालंधर और लुधियाना के पुलिस कमिश्नर को एक साथ बदल दिया गया, जबकि वह कुछ दिन पहले ही तैनात किए गए थे। इसमें सवाल उठाया गया कि तीनों की एक ही गलती कैसे हो सकती है? यह भी कहा गया है कि अफसर अपनी काबिलियत नहीं बल्कि नेताओं और रसूखदारों की इच्छा से लगाए जाते हैं।

सिद्धू के इमरान को बड़े भाई बताने पर उठाए थे सवाल

इमरान खान किसी का बड़ा भाई हो सकता है लेकिन भारत के लिए वह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI और सेना के गठजोड़ की कठपुतली है। जो पंजाब में ड्रोन के जरिए हथियार और नशा भेज रहा है। इसके अलावा वह रोजाना जम्मू कश्मीर में LOC पर आतंकवादियों को भेज रहा है। उन्होंने सिद्धू से पूछा कि क्या हम पुंछ में हमारे सैनिकों की शहादत को इतनी जल्दी भूल गए।

BSF के मुद्दे पर भी घेरी थी सरकार

पंजाब में BSF का दायरा 15 से 50 किमी बढ़ाने को लेकर भी चन्नी सरकार पर निशाना साधा था। तिवारी ने पूछा था कि इसका नोटिफिकेशन हुए एक महीना हो चुका है लेकिन इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती क्यों नहीं दी गई। क्या पंजाब सरकार का विरोध सिर्फ दिखावा है।

खबरें और भी हैं...