• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Congress MP Manish Tewari Targeted The Congress High Command On The Pretext Of Harish Rawat's Statement

MP मनीष तिवारी का कांग्रेस हाईकमान पर तंज:हरीश रावत के बयान के बाद कहा- पहले असम, फिर पंजाब और अब उत्तराखंड, भोग पूरा ही डालेंगे

चंडीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद मनीष तिवारी - Dainik Bhaskar
सांसद मनीष तिवारी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत के उत्तराखंड चुनाव में संगठन से सहयोग न मिलने के बयान पर पंजाब में भी बवाल शुरू हो गया है। श्री आनंदपुर साहिब से कांग्रेसी सांसद मनीष तिवारी ने इशारों में कांग्रेस हाईकमान पर हमला बोला है। तिवारी ने कहा कि पहले असम, फिर पंजाब और अब उत्तराखंड, भोग (मृतक की अंतिम रस्म) पूरा ही डालेंगे, कोई कसर न रह जाए।

यह पहली बार नहीं है कि तिवारी इस तरह इशारों में हमलावर हुए हों। इससे पहले भी वह पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू से लेकर कांग्रेस हाईकमान के नए नेताओं पर निशाने साधते रहे हैं।

मनीष तिवारी ने इशारों में कांग्रेस हाईकमान पर हमला बोला है।
मनीष तिवारी ने इशारों में कांग्रेस हाईकमान पर हमला बोला है।

पहले कैप्टन ने कसा था तंज

रावत के संगठन से सहयोग न मिलने के बयान पर पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी तंज कसा था। उन्होंने रावत को कहा था कि जो फसल बोई है, वही काटनी पड़ती है। आपको भविष्य की कोशिशों के लिए शुभकामनाएं (अगर हों तो) हरीश रावत जी। कैप्टन का तंज इसलिए अहम है क्योंकि उन्हें पंजाब के CM की कुर्सी से हटाने में रावत का अहम योगदान रहा। उन्होंने ही नवजोत सिद्धू को सक्रिय करने के बाद पंजाब प्रधान बनाने के लिए खूब लॉबिंग की थी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी तंज कसा था।
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी तंज कसा था।

सोशल मीडिया पर पोस्ट डाल रावत ने दिए कांग्रेस छोड़ने के संकेत

हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिए कांग्रेस छोड़ने के संकेत दिए थे। उन्होंने लिखा कि 'है न अजीब सी बात, चुनाव रूपी समुद्र में तैरना है, सहयोग के लिए संगठन का ढांचा अधिकांश स्थानों पर सहयोग का हाथ आगे बढ़ाने के बजाय या तो मुंह फेर कर खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक भूमिका निभा रहा है। जिस समुद्र में तैरना है, सत्ता ने वहां कई मगरमच्छ छोड़ रखे हैं, जिनके आदेश पर तैरना है। उनके नुमाइंदे मेरे हाथ-पांव बांध रहे हैं। मन में बहुत बार विचार आ रहा है कि हरीश रावत अब बहुत हो गया, बहुत तैर लिए, अब विश्राम का समय है!'

गांधी परिवार पर साधा निशाना, बोले- नए साल में कोई रास्ता दिखे

इसके बाद एक अन्य सोशल मीडिया पोस्ट में भी रावत ने कहा, फिर चुपके से मन के एक कोने से आवाज उठ रही है "न दैन्यं न पलायनम्"। बड़ी उपापोह की स्थिति में हूं, नया वर्ष शायद रास्ता दिखा दे। मुझे विश्वास है कि भगवान केदारनाथ जी इस स्थिति में मेरा मार्गदर्शन करेंगे हालांकि जब रावत से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस मुद्दे पर बात करने से इनकार कर दिया। इतना जरूर है कि कभी सबसे करीबी रहे रावत ने गांधी परिवार पर ही निशाना साधकर सबको चौंका दिया है।

खबरें और भी हैं...