पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट:सरकार और पार्टी में बेहतर तालमेल के लिए बनेगी कोऑर्डिनेशन कमेटी

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह । - Dainik Bhaskar
सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ।
  • कलह सुलझाने को बनी 3 मेंबरी कमेटी ने सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट
  • अमरिंदर ही पंजाब कांग्रेस के कैप्टन, चुनाव में पार्टी की करेंगे अगुवाई

विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब कांग्रेस में अंतर्कलह दूर करने के लिए गठित 3 मेंबरी कमेटी ने वीरवार को अपनी रिपोर्ट पार्टी प्रधान सोनिया गांधी को सौंप दी है। एजेंसियों के अनुसार खड़गे पैनल ने रिपोर्ट में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पर विश्वास जताते हुए विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ने की सिफारिश की है।

कमेटी ने पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की सरकार और पार्टी में भूमिका यकीनी बनाने और सरकार व संगठन के बीच बेहतर तालमेल के लिए कोऑर्डिनेशन कमेटी बनाने पर भी जोर दिया है। सिद्धू का सरकार या पार्टी में क्या रोल होगा, फैसला सोनिया करेंगी।

मल्लिकार्जुन खड़गे, हरीश रावत और जेपी अग्रवाल ने 4 दिन तक करीब 150 नेताओं से बात की। कमेटी ने कहा चुनाव से पहले सरकार हर स्तर पर नेताओं और जनता की सुनवाई कर खामियां दूर करे। कई विधायकों को शिकायत है कि सरकार और ब्यूरोक्रेसी में उनकी कोई सुनवाई नहीं है।

किसान और दलित नेताओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने और बेअदबी कांड पर जांच तेज करने की सिफारिश की गई है। पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि कमेटी ने अपना काम कर लिया है अब सोनिया फैसला करेंगी।

कमेटी की सिफारिशों के मुख्य पॉइंट

1. मौजूदा हालात में नेतृत्व में बदलाव न किया जाए। चुनाव से पहले नेतृत्व में बदलाव से नुकसान होगा। 2. आगामी विधानसभा चुनाव कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में ही लड़ा जाए। 3. नवजोत सिद्धू को सरकार व पार्टी में सक्रिय किया जाए। 4. सरकार और संगठन के बीच बेहतर तालमेल के लिए कोऑर्डिनेशन कमेटी बने। 5. सरकार और पीपीसीसी में किसान और दलित नेताओं की भूमिका बढ़ाई जाए। 6. बेअदबी कांड की जांच तेज की जाए, ड्रग्स माफिया पर सख्त कार्रवाई की जाए।

किसी से न मिलने पर सीएम बोले- कोरोना चल रहा है

कई मंत्रियों व विधायकों ने कहा, सीएम से मिलना बहुत मुश्किल है। सीएम ने कमेटी से कहा कि कोविड के कारण सभी से व्यक्तिगत रूप से मिलना ठीक नहीं है। वह मंत्रियों, विधायकों से ऑनलाइन चर्चा करते हैं।

जारी है - कांग्रेस कलह

परगट ने दागे सवाल, कहा- कैप्टन बताएं, पार्टी में कौन-कौन हैं भ्रष्ट नेता

तीन मेंबरी कमेटी की रिपोर्ट सब्मिट होते ही पार्टी में विरोध के सुर फिर तेज हो गए हैं। विधायक परगट सिंह ने प्रेस काॅन्फ्रेंस कर सीएम पर निशाना साधा। परगट ने कहा कि सरकार की नीयत पर शक है।

समझ नहीं आ रहा पंजाब में सरकार चला कौन रहा है? परगट ने कहा कि 80 विधायक होने के बावजूद सीएम भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर पा रहे? भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई से सीएम को रोक कौन रहा है? कहा, सीएम जब से खड़गे पैनल के सामने पेश हुए हैं तब से कमेटी को कुछ नेताओं के खिलाफ डोजियर सौंपने की बात हो रही है।

सीएम बताएं कि भ्रष्ट नेता कौन हैं? मैं करप्ट हूं तो मेरा नाम भी जारी करें। वहीं, परगट ने मंत्री राणा गुरमीत सोढी पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्होंने एक ही जमीन का दो बार मुआवजा लिया। उन पर कार्रवाई क्यों नहीं की? सिंचाई घोटाले में भी कुछ क्यों नहीं किया?

सीएम का जवाब- सियासी करियर में मैंने कभी साथियों पर सवाल नहीं उठाए

खड़गे पैनल को पंजाब कांग्रेस के भ्रष्ट नेताओं की लिस्ट सौंपने संबंधी विधायक परगट के आरोपों पर सीएम ने कहा कि अपने पूरे सियासी करियर में मैंने ऐसा कोई काम नहीं किया। सीएम ने कहा कि सरकार चलाने के लिए मेरा एकमात्र मूलमंत्र आपसी विश्वास और पारदर्शिता है।

रावत बोले- परगट की पीसी गलत, पार्टी गंभीरता से लेगी

जालंधर कैंट के विधायक परगट सिंह द्वारा प्रेस काॅन्फ्रेंस कर अपनी ही सरकार पर सवाल उठाने को प्रदेश प्रभारी हरीश रावत से गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि विधायक की प्रेस काॅन्फ्रेंस को पार्टी गंभीरता से लेगी।

खबरें और भी हैं...