• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Corona Omicron Updates In Punjab India, High Rise In Recovery Of Corona Cases In Punjab During Election 

पंजाब में चुनाव से हार रहा कोरोना:चुनाव की घोषणा के वक्त 10% रिकवरी रेट 11 दिन में बढ़कर 78% हुआ; मौतें खोल रही पोल

चंडीगढ़7 महीने पहलेलेखक: मनीष शर्मा
  • कॉपी लिंक

कोरोना वायरस को वैक्सीन भले ही न हरा पा रही हो, लेकिन चुनावी टीका जरूर असरदार साबित होता नजर आ रहा है। ऐसा खुद पंजाब सरकार के आंकड़े बता रहे हैं। 8 जनवरी को चुनाव के वक्त कोरोना से रिकवरी रेट सिर्फ 10% था यानी उस वक्त 100 में से 10 मरीज ठीक हो रहे थे।

चुनाव का ऐसा असर हुआ कि अब 19 जनवरी तक यह रिकवरी रेट 78% पहुंच गया। मतलब यह कि अब अगर 100 मरीजों के मुकाबले रोजाना 78 मरीज ठीक हो रहे हैं। इसके उलट कोरोना से 8 दिन में 145 मौतों से पूरी कारगुजारी की पोल जरूर खुल रही है।

ऐसे समझिए चुनावी चमत्कार

8 जनवरी को पंजाब चुनाव की घोषणा हुई। उस दिन राज्य में 3,643 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। इनमें 369 यानी 10% मरीज ही ठीक हुए। इसके 5 दिन बाद यानी 13 जनवरी को रिकवरी रेट बढ़कर 38% हो गया। इस दिन 6,083 मरीज मिले, जबकि 2,330 ठीक हो गए। अब 19 जनवरी को यह रिकवरी रेट बढ़कर 78% हो गया। बुधवार यानी 19 जनवरी को 7849 मरीज मिले और 6,161 मरीज ठीक हो गए।

पंजाब में बुधवार को कोरोना के 41,441 टेस्ट किए गए।
पंजाब में बुधवार को कोरोना के 41,441 टेस्ट किए गए।

एक दिन में सर्वाधिक 27 मौतें

पंजाब में कोरोना की जमीनी हकीकत डरावनी हो चुकी है। बुधवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 27 मरीजों ने दम तोड़ दिया। इसके अलावा 24 घंटे में 7,849 पॉजिटिव केस मिले। पॉजिटिविटी रेट भी 18.94% रहा। सबसे बुरी हालत लुधियाना और मोहाली की है। लुधियाना में बुधवार को 1,325 केस मिले, जबकि मोहाली में 35% रिकवरी रेट के साथ 1,231 नए मरीज मिले।

यह है 19 जनवरी को मरीजों की जिलावार स्थिति...

खबरें और भी हैं...