पंजाब में आ गई कोरोना की तीसरी लहर!:हॉटस्पॉट बने पटियाला में संक्रमण की तेजी से ओमिक्रॉन का खतरा; जीनोम सिक्वेंसिंग टेस्ट करेगी सरकार

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में कोरोना की तीसरी लहर आ रही है। सबसे चिंताजनक हालात हॉटस्पॉट बने पटियाला में हैं, जहां अब कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का संक्रमण हो सकता है। इसे देखते हुए सरकार ने यहां आए केसों की जीनोम सिक्वेंसिंग करवाने की तैयारी कर ली है। पंजाब सेहत विभाग के कोरोना नोडल अफसर डॉ. राजेश भास्कर ने कहा कि पटियाला में कोरोना मरीजों का कलस्टर बन चुका है। इसलिए वहां जीनोम सिक्वेंसिंग टेस्ट शुरू किए जाएंगे।

पटियाला की रफ्तार से चिंतित सरकार

पटियाला में कोरोना की रफ्तार ने पंजाब सरकार को चिंता में डाल दिया है। पटियाला में 1 जनवरी को 98 केस थे, जो 2 जनवरी को 133 और 3 जनवरी को 143 हो गए। वहीं 4 जनवरी को 366 केस आ गए और एक मरीज ने दम तोड़ दिया। तेजी से फैलते संक्रमण को देखते हुए आशंका जताई जा रही है कि यह कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट हो सकता है।

कोरोना संक्रमण फैलते देख पंजाब में यह पाबंदियां लगा दी गई हैं
कोरोना संक्रमण फैलते देख पंजाब में यह पाबंदियां लगा दी गई हैं

अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की गिनती बढ़ी
कोरोना मरीजों की बढ़ती गिनती से अब अस्पतालों पर भी बोझ पड़ना शुरू हो गया है। एक जनवरी को सिर्फ 31 मरीज अस्पतालों में भर्ती थे। 23 ऑक्सीजन पर रखे गए, जबकि 8 ICU में थे। हालांकि संक्रमण बढ़ते ही अगले दिन इनकी गिनती 48 पहुंच गई। एक मरीज वेंटिलेटर पर भी पहुंच गया। 3 जनवरी को अस्पताल में भर्ती मरीजों की गिनती 67 हो गई। 50 ऑक्सीजन, 15 ICU और 2 मरीज वेंटिलेटर पर चले गए। 4 जनवरी को हालात और बिगड़ गए। 70 मरीज अस्पताल पहुंच गए। 54 मरीजों को ऑक्सीजन, 15 को ICU और एक को वेंटिलेटर पर रखना पड़ा।

नाइट कर्फ्यू और बंदिशें लगा चुकी सरकार

कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए पंजाब सरकार ने नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। यह नाइट कर्फ्यू म्यूनिसिपल लिमिट यानी शहरों और कस्बों में रात 10 से सुबह 5 बजे तक लगाया है। वहीं जिम, खेल स्टेडियम, स्विमिंग पूल आदि बंद कर दिए हैं। 15 जनवरी के बाद बिना वैक्सीन किसी को बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा।

डिप्टी सीएम ओपी सोनी ने दावा किया कि कोरोना से निपटने के लिए पूरे इंतजाम हैं।
डिप्टी सीएम ओपी सोनी ने दावा किया कि कोरोना से निपटने के लिए पूरे इंतजाम हैं।

डिप्टी सीएम बोले- 17 हजार बैड का इंतजाम

पंजाब में कोरोना से बिगड़ते हालात पर सेहत मंत्रालय देख रहे डिप्टी सीएम ओपी सोनी ने भी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि सेहत विभाग ने पंजाब में करीब 17 हजार बैड का इंतजाम किया है। इसके अलावा पिछली बार पैदा हुई सर्वाधिक 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत से निपटने के लिए भी बंदोबस्त हो चुके हैं।