• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Corona Uncontrollable In Chandigarh, 618 Cases In 19 Days Of June; Active Case 322; Positivity Rate Increased

चंडीगढ़ में कोरोना बेकाबू:जून के 19 दिनों में 618 मरीज मिले; एक्टिव केस 322; पॉजिटिविटी रेट 5.92 प्रतिशत हुआ

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

चंडीगढ़ में पिछले करीब 2 महीनों से कोरोना लगातार बढ़ रहा है। मई के मुकाबले जून में लगभग 3 से 4 गुणा तेजी से केस बढ़ रहे हैं। एक ही दिन में 50 से ज्यादा केस भी सामने आ रहे हैं। शहर में पिछले सवा दो सालों में 93 हजार 57 कोरोना केस शहर में आ चुके हैं। अभी तक 1165 कोरोना प्रभावित लोगों की जान भी जा चुकी है। 91 हजार 570 मरीज अभी तक ठीक हो चुके हैं। कोरोना के एक्टिव केस 322 हो चुके हैं।

बीते रविवार को कोरोना के 73 नए केस आए थे। यह काफी ज्यादा हैं। 1233 लोगों के सैंपल लिए गए थे। इसके हिसाब से पॉजिटिविटी रेट 5.92 दर्ज किया गया। सबसे ज्यादा 6-6 मरीज सेक्टर 21 और मनीमाजरा में मिले। वहीं सप्ताह का पॉजीटिविटी रेट भी बढ़ कर 4.18 प्रतिशत हो चुका है।

सप्ताह में औसत दर 46

फरवरी में केसों की रफ्तार कम होने के बाद अप्रैल के मध्य तक शहर में 1 से 3 नए मामले आ रहे थे। इसके बाद से केस लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 7 दिनों में रोजाना आने वाले नए केसों का औसत 46 तक पहुंच गया है। मई में कोरोना के 379 केस आए थे।

कुल एक्टिव मरीजों में से पीजीआई में इस समय कुल 4 मरीज भर्ती हैं। इनमें से एक वैंटिलेटर पर है। 4 मरीज जीएमसीएच 32 में जबकि जीएमएसएच 16 में 10 मरीज भर्ती हैं। वहीं कोरोना के 46 मरीज ठीक भी हुए हैं। चंडीगढ़ प्रशासन की एडवाइजरी के बावजूद न तो लोग भीड़ वाली जगहों पर जाने से बच रहे हैं और न ही मास्क का सभी लोग ऐसी जगहों पर प्रयोग कर रहे हैं।

वैक्सीनेशन की स्थिति

चंडीगढ़ में बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया भी चंडीगढ़ प्रशासन लगातार बढ़ाए हुए है। हालांकि इसके बावजूद 12 से 14 वर्ष के बच्चों में वैक्सीनेशन की रफ्तार कम है। अभी तक इस आयु वर्ग में 32,891 बच्चों ने ही कोर्बेवैक्स की पहली डोज लगवाई है। इस आयु वर्ग में 45 हजार बच्चों को कवर करने का लक्ष्य है। अभी पहली डोज से 73.09 प्रतिशत बच्चे ही कवर हुए हैं।

वहीं दूसरी डोज 17,165 बच्चों ने लगवाई है। दूसरी ओर 15 से 18 वर्ष के 73,313 बच्चे कोवैक्सिन लगवा चुके हैं। यह 72 हजार बच्चों के तय लक्ष्य से ज्यादा है। वहीं दूसरी डोज 48,756 बच्चे लगवा चुके हैं। वयस्क पहले ही दोनों डोज लगवा चुके हैं। हालांकि अभी तक बूस्टर डोज सिर्फ 51,469 वयस्कों ने ही लगवाई है।

खबरें और भी हैं...