• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 'Credit War' On Opening Of Kartarpur Corridor, CM Channi Said Met PM And Shah, Will Go With Ministers; Punjab BJP Bid We Got It Opened

करतारपुर कॉरिडोर पर पंजाब में 'क्रेडिट वार':CM चन्नी बोले- PM और शाह से मिलकर किया था आग्रह; भाजपा नेताओं ने भी ठोका दावा

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पाकिस्तान स्थित गुरूद्वारा श्री करतारपुर साहिब - Dainik Bhaskar
पाकिस्तान स्थित गुरूद्वारा श्री करतारपुर साहिब

भारत-पाकिस्तान के बीच दोबारा खुलने जा रहे करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पंजाब में सियासी 'क्रेडिट वार' शुरू हो गई है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के 17 नवंबर से करतारपुर कॉरिडोर को दोबारा खोले जाने के ऐलान के बाद पंजाब के CM चरणजीत चन्नी ने कहा कि उन्होंने इस बारे में PM नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्हें लेटर भी लिखा जिसका फल मिल गया है। उन्होंने कॉरिडोर खोलने के लिए केंद्र सरकार का धन्यवाद किया।

पंजाब के CM चरणजीत चन्नी ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर केंद्र सरकार का धन्यवाद किया
पंजाब के CM चरणजीत चन्नी ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर केंद्र सरकार का धन्यवाद किया

उधर पंजाब भाजपा के नेता दावा कर रहे हैं कि उनकी कोशिशों से ही 19 नवंबर को गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व से पहले यह कॉरिडोर दोबारा खुलने जा रहा है। इसके लिए वह PM नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृहमंत्री अमित शाह से मिल चुके हैं। भाजपा के नेता दो दिन से दावा कर रहे थे कि कॉरिडोर जल्दी ही खुल जाएगा।

मंगलवार को कॉरिडोर खोले जाने के ऐलान के बाद दिल्ली गए भाजपा नेताओं ने एक-दूसरे को लड्डू खिलाकर खुशी जाहिर की। यह भी तय हुआ कि कॉरिडोर खुलने के बाद करतारपुर जाने वाले 250 लोगों के पहले जत्थे में पंजाब भाजपा के प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा भी शामिल होंगे।

अमित शाह ने पंजाबी में ट्वीट कर जानकारी दी
अमित शाह ने पंजाबी में ट्वीट कर जानकारी दी

भाजपा की सिखों को साधने की कोशिश

गुरु नानकदेव के प्रकाश पर्व से ठीक पहले ​​​​​​​करतारपुर कॉरिडोर को दोबारा खोलकर भाजपा ने पंजाब में सिखों को साधने की कोशिश की है। केंद्र सरकार के तीन नए खेती कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के कारण पंजाब में सिख समुदाय भाजपा से नाराज चल रहा है। पंजाब में साढे़ 3 महीने बाद विधानसभा चुनाव हैं। ऐसे में इस फैसले के जरिए भाजपा खुद को सिखों की हितैषी साबित करना चाहती है। खासकर इसलिए भी कि खुद को सिखों का नुमाइंदा बताने वाला शिरोमणि अकाली दल भाजपा से गठजोड़ तोड़ चुका है।

अकाली दल और SGPC भी दावा ठोक रही

करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने का क्रेडिट लेने में शिरोमणि अकाली दल और शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) भी पीछे नहीं है। बठिंडा से अकाली दल की सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल इस मुद्दे पर केंद्र सरकार को पत्र लिख चुकी है। SGPC प्रधान बीबी जागीर कौर भी लगातार कॉरिडोर खोलने की मांग उठाती रही हैं। सुखबीर बादल दावा कर चुके हैं कि उनकी पार्टी ने लगातार पीएम को चिटि्ठयां लिखी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र सरकार का स्वागत किया
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र सरकार का स्वागत किया

अमरिंदर ने धन्यवाद किया

पंजाब के पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर केंद्र सरकार का धन्यवाद किया। 16 नवंबर की सुबह ही कॉरिडोर खुलने की खबरों के बीच उन्होंने भी केंद्र से इसे लेकर मांग की थी। अमरिंदर की अब किसान आंदोलन को खत्म करवाने में भूमिका पर सबकी नजर लगी है।

अब किसान आंदोलन का रास्ता भी इसी तरह !

केंद्र सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने का क्रेडिट पंजाब की भाजपा लीडरशिप को दिलाने में कसर नहीं छोड़ी। इसके बाद सियासी चर्चा शुरू हो गई कि इसके बाद किसान आंदोलन का रास्ता भी इसी तरह निकल सकता है। इसमें भी पंजाब की भाजपा ही पूरे मामले को लीड करेगी। ऐसे में आने वाले समय में खेती कानूनों को रद्द करने या फिर बीच का कोई रास्ता निकालने पर विचार हो सकता है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर फैसले का स्वागत किया।
नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर फैसले का स्वागत किया।

सिद्धू बोले- मैं भी आवेदन करूंगा, नई मांग रखी

पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने के फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि गुरुपर्व पर वह भी पाकिस्तान जाने के लिए आवेदन करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने नई मांग रख दी कि डेरा बाबा नानक में दर्शनीय स्थल को संवारा जाए। यहां से वह लोग करतारपुर साहिब के दर्शन करते हैं, जिनके पास पासपोर्ट नहीं होते। चंडीगढ़ पहुंचे सिद्धू ने कहा कि पहले एयरफोर्स कुछ कर रही थी लेकिन टेंडर में मामला फंसकर रह गया।

खबरें और भी हैं...