समस्या / 5 हजार वेंडर के सामने रोजी-रोटी का संकट

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

मनीमाजरा. चंडीगढ़ के 5 हजार से अधिक वेंडर भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। वेंडर्स को न तो चंडीगढ़ प्रशासन अपनी मंडी में दुकानें लगाने दे रहा है और न ही उन्हें सामान बेचने की इजाजत दे रहा है। इस समस्या को लेकर वेंडर में खासा रोष है। स्थानीय बिरेन्द्र कुमार माहतो का कहना है कि पिछले दो महीने से सभी वेंडर्स घर पर बैठे हुए हैं।

प्रशासन इसकी सुनवाई नहीं कर रहा है सभी अपनी मंडी में अपना सामान बेचते थे, लेकिन लॉकडाउन के दौरान ही प्रशासन ने अपनी मंडी बंद कर दी। अब वह रोज़ी-रोटी के मोहताज हो चुके हैं। कई बार इस बारे में अधिकारियों को भी अवगत करवाया गया लेकिन कोई भी सुनवाई नहीं हुई।

सभी दुकानें खुली लेकिन अपनी मंडी नहीं

वेंडरों का कहना है कि प्रशासन ने हालांकि सभी सेक्टरों की दुकानों और रेहड़ी मार्किट को खोल दिया है, लेकिन अपनी मंडी अभी तक शुरू नहीं की है, जबकि यहां 5 हजार से अधिक लोग अपना रोजगार चला रहे हैं। यही वजह है कि उन्हें रोजगार न मिलने के कारण अब वह अपने प्रदेशों को वापस जा रहे हैं। यदि प्रशासन ने सुनवाई नहीं की तो प्रदर्शन भी किया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना