• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Cyber Cell Of Chandigarh Police Will Investigate The Video Insulting Shivling; The Abuser Offered Beer While Wearing Shoes

शिवलिंग का अपमान:चंडीगढ़ पुलिस की साइबर सेल करेगी वीडियो की जांच; नशेड़ी ने बीयर से किया था अभिषेक

चंडीगढ़7 महीने पहले

शिवलिंग पर बीयर चढ़ाने वाले नशेड़ी युवक और उसके साथियों की पहचान चंडीगढ़ पुलिस ने कर ली है। हालांकि जिस बरसाती नदी के पास अपराध किया गया है, वह चंडीगढ़ की मालूम नहीं होती। चंडीगढ़ के आईटी पार्क थाने में हिंदू संगठनों ने शिकायत दी थी।

आईटी पार्क पुलिस थाने के एसएचओ रोहताश यादव ने बताया कि संबंधित अपराध उनके क्षेत्र में नहीं हुआ है। हालांकि उनके थाने में इस अपराध को लेकर शिकायत दी गई थी। विडियो में बहती कच्ची बरसाती नदी जैसी जगह चंडीगढ़ की प्रतीत नहीं होती। विडियो और शिकायत आगे यूटी पुलिस के साइबर सेल को दे दी गई है। वही अब मामले की जांच करेगी।

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपियों ने यह वीडियो वायरल होने के बाद अपने परिजनों और दोस्तों के जरिए एक प्रार्थना की है। इसमें उन्होंने कहा है कि उनका मकसद धार्मिक भावनाओं को आहत करना नहीं था। वह दोबारा से एक वीडियो जारी कर माफी मांगने को तैयार हैं। हालांकि हिंदु संस्थाएं इन युवकों को माफ करने को तैयार नहीं हैं।

राष्ट्रीय बजरंग दल, चंडीगढ़ के अध्यक्ष अनिल डूमरा ने कहा कि इस प्रकार हर कोई हिंदु धर्म का अपमान कर माफी मांगने लगेगा। इस मामले में उन्होंने पुलिस से सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने चंडीगढ़ पुलिस को मामले में जल्द कार्रवाई करने को कहा है। वहीं चेतावनी दी है कि यदि आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती तो बजरंग दल चंडीगढ़ में विरोध प्रदर्शन करेगा। मामले में चंडीगढ़ के एसएसपी को भी शिकायत दी गई है।

इन नशेड़ियों ने किया भगवान का अपमान

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, वीडियो में एक आरोपी राजीव कॉलोनी, पंचकूला का विनोद कुमार, दूसरा युवक इंदिरा कॉलोनी, मनीमाजरा का नरेश उर्फ कालिया तथा तीसरा युवक बापूधाम का विवेक है। इनमें से दो आरोपी विडियो में नजर आ रहे हैं, जबकि एक वीडियो बना रहा है। बैकग्राउंड में नशेड़ियों ने शिवभक्ति गीत भी आरोपियों ने चलाया हुआ था।

कालिया ने शिवलिंग को किया अपवित्र

मिली जानकारी के मुताबिक, शिवलिंग पर जूते पहनकर बीयर चढ़ाने वाला नरेश उर्फ कालिया है। हिंदू संगठनों द्वारा उसकी पहचान कर ली गई थी। वह गायब बताया जा रहा है। हिंदू संगठनों के लोग उसके इंदिरा कॉलोनी स्थित घर पर भी गए थे, जहां उसकी मां ने कहा कि वह घर नहीं आया। वह सेक्टर 26 में काम करता है। हिंदू संगठनों द्वारा मामले में पुलिस को शिकायत देते हुए तुरंत सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी।

धार्मिक भावनाएं आहत करने पर यह धाराएं लग सकतीं

भारतीय दंड संहिता यानि आईपीसी में धार्मिक भावनाएं आहत करने पर मुख्यत: दो धाराएं आमतौर पर लगाई जाती हैं। आईपीसी की धारा 295ए उन मामलों में लगती है, जहां जानबूझकर दुर्भावना से किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई जाती है। जो कोई इस प्रकार के कृत्य से धार्मिक भावनाओं को भड़काता है, उसे 3 वर्ष तक की कैद या जुर्माना अथवा दोनों हो सकते हैं।

यह कृत्य कहे हुए शब्दों, लिखित शब्दों, चिन्हों या दृश्य प्रदर्शित करके किया होता है। वहीं आईपीसी की धारा 298 में जानबूझकर अपने शब्दों से धार्मिक भावनाएं आहत करना शामिल है। इस अपराध में अधिकतम 1 वर्ष तक की कैद या जुर्माना अथवा दोनों शामिल हैं।