• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Death Toll From Corona In Chandigarh Reached 1100, 3 New Patients Died Of Corona, Positivity Rate Also Increased

चंडीगढ़ में कोरोना के 8614 एक्टिव केस:शनिवार को मरने वाले तीनों मरीज फुली वैक्सीनेटिड थे, कई दिन बाद मनीमाजरा में 100 से कम संक्रमित

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ में कोरोना के एक्टिव केस 8614 हो गए हैं। वहीं पहली लहर से अब तक मरने वालों आंकड़ा भी 1100 पहुंच गया है। कोरोना महामारी से शनिवार को शहर में तीन मौत हुईं। वहीं 1149 नए मामले सामने आए। पॉजिटिविटी रेट थोड़ा बढ़ कर 20.10 प्रतिशत हो गया। शुक्रवार को पॉजिटिविटी रेट 17.06 प्रतिशत दर्ज किया गया था। अभी तक शहर में 84,884 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। इनमें से 75,170 मरीज अभी तक ठीक हो चुके हैं।

इनकी गई जान
कोरोना ने शहर में शनिवार को मरने वालों में सेक्टर 26 की 65 वर्षीय महिला को किडनी और हायपरटेंशन की बीमारी थी। उसने पीजीआई में दम तोड़ा। उसे कोरोना की दोनो डोज लगी हुई थी। वहीं 54 वर्ष के एक सेक्टर 43 के व्यक्ति को जीएमएसएच 16 में मृत लाया गया। वह ज्यादा शराब पीने का आदि था। उसे भी कोरोना की दोनो डोज लगी हुई थी। तीसरी मौत सेक्टर 19 के 67 वर्षीय व्यक्ति की हुई। उसे सांस की बीमारी थी। उसकी मौत जीएमएसएच 16 में हुई। उसने भी कोरोना की दोनों डोज लगवा रखी थी।

इतनों को लग चुकी है वैक्सीन
चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा 10,69,074 लोगों को कोवीशिल्ड की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इनमें बाहरी राज्यों से आकर डोज लगवाने वाले भी शामिल हैं। इन डोज का प्रतिशत 126.82 प्रतिशत है। वहीं दूसरी डोज 83,9,941 लोगों को लगाई जा चुकी है। इसका प्रतिशत 99.64 है। प्रशासन 15 से 18 वर्ष के युवाओं समेत हैल्थ वर्कस और फ्रंट लाईन वर्कस को भी प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाने में जुटा है। 60 वर्ष से अधिक के बीमार लोगों को भी बूस्टर डोज दी जा रही है।

मनीमाजरा में कई दिन बाद 100 से नीचे मामले
शहर के जिन सेक्टरों में कोरोना के ज्यादा मामले आए उनमें सेक्टर 20 में 37, सेक्टर 38 में 38, सेक्टर 41 में 36, सेक्टर 45 में 35, धनास में 33 तथा मनीमाजरा में 97 नए मामले सामने आए। मनीमाजरा में कई दिनों के बाद केस 100 से नीचे आए हैं। नए दर्ज मामलों में 570 पुरुष तथा 578 महिलाएं शामिल थी। जबकि एक ट्रांसजेंडर था। कोरोना से 1792 नए मरीज शनिवार को ठीक भी हुए हैं। इनमें वह मरीज भी हैं जिन्होंने अपना 7 दिनों की होम आईसोलेशन अवधि पूरी कर ली और नेगेटिव पाए गए।

खबरें और भी हैं...