• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Discord Broke Out In Punjab Congress, CM Channi Rejected AG's Resignation After Listening To Sidhu's Statement, MP Bittu Said – Party Should Decide On Sidhu

पंजाब कांग्रेस में मची कलह:सिद्धू का विरोधी बयान सुन CM चन्नी ने AG का इस्तीफा नकारा, सांसद बिट्‌टू बोले- आर या पार करे पार्टी

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब कांग्रेस में फिर कलह मच गई है। नवजोत सिद्धू ने सोमवार को फिर सरकार के सस्ती बिजली के फैसले की आलोचना कर दी। जिसे सुन CM चरणजीत चन्नी ने एडवोकेट जनरल (AG) एपीएस देयोल का इस्तीफा नामंजूर कर दिया। सिद्धू के दबाव में ही एडवोकेट देयोल ने यह इस्तीफा दिया था। दिनभर मीडिया से दूरी के बाद एडवोकेट देयोल ने देर शाम इस्तीफे की बात को भी खारिज कर दिया।

इसी बीच लुधियाना से सांसद रवनीत बिट्‌टू ने भी सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बिट्‌टू ने कहा कि किसी व्यक्ति की एक, दो, तीन या चार लोगों से न बने तो मानी जाती है, लेकिन हर व्यक्ति के साथ न बने, इससे खुलकर अब क्या कह सकते हैं। इस वक्त वर्करों को डायरेक्शन की जरूरत है। प्रचार के लिए कमेटियां बननी थीं, लेकिन कुछ नहीं हो रहा। सरकार और MLA काम कर रहे, लेकिन वर्कर इंतजार कर रहे हैं। सिद्धू को लेकर कांग्रेस पार्टी को आर या पार का फैसला लेना चाहिए।

पंजाब के एडवोकेट जनरल एपीएस देयोल
पंजाब के एडवोकेट जनरल एपीएस देयोल

फैसले की भनक लगते ही बिफरे सिद्धू

CM चन्नी ने एक नवंबर को पंजाब को दीवाली तोहफा देने की घोषणा की थी। इसमें सस्ती बिजली की ही चर्चा थी। चर्चा यह भी है कि सिद्धू इसकी मांग कर रहे थे, लेकिन फैसले से पहले उन्हें साथ नहीं लिया गया। इसके बाद सिद्धू चंडीगढ़ में संयुक्त हिंदू महासभा के कार्यक्रम में पहुंचे। सीएम चन्नी की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ही सिद्धू ने सरकार के दीवाली गिफ्ट और खाली खजाने को लेकर सरकार को निशाना बना दिया।

पंजाब में सस्ती बिजली की घोषणा करते CM चरणजीत चन्नी
पंजाब में सस्ती बिजली की घोषणा करते CM चरणजीत चन्नी

AG का इस्तीफा तय था, बयान सुन सीएम ने फैसला बदला

पंजाब के AG एपीएस देयोल का इस्तीफा दिल्ली में ही तय हो गया था। सिद्धू ने डीजीपी इकबालप्रीत सहोता के साथ एजी की नियुक्ति के विरोध में ही इस्तीफा दिया था। डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा और सीएम चरणजीत चन्नी के साथ मीटिंग करने के बाद राहुल गांधी ने इसकी सहमति दी। इसके बाद एडवोकेट देयोल ने खुद ही इस्तीफा दे दिया। इससे पहले ही वह सीएम से मिलते और औपचारिक घोषणा करते। सीएम ने सिद्धू के सरकार विरोधी बयान की वीडियो देख ली, जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा लेने से इंकार कर दिया।

चंडीगढ़ में संयुक्त हिंदू महासभा के कार्यक्रम में बोलते नवजोत सिद्धू
चंडीगढ़ में संयुक्त हिंदू महासभा के कार्यक्रम में बोलते नवजोत सिद्धू

सिद्धू की टकराव वाली टाइमिंग

सिद्धू की विरोधी से टकराव की टाइमिंग हमेशा रही है। जब CM की कुर्सी छोड़ कैप्टन अमरिंदर सिंह पहली बार दिल्ली जा रहे थे तो सिद्धू ने उसी दिन इस्तीफा दे दिया। अब सीएम ने सस्ती बिजली की घोषणा करनी थी तो उससे पहले ही सिद्धू ने इसकी आलोचना कर विवाद खड़ा कर दिया।