• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Discussion On Increased Water Rates, The Commissioner Is Not In Favor Of Reducing The Rate; But The Old Rates Will Be Charged Till March 31 Of The Different Year.

नगर निगम की वर्चुअल बैठक में हंगामा:कमिश्नर रेट कम करने के पक्ष में नहीं; लेकिन अगले साल 31 मार्च तक वसूले जाएंगे पुराने रेट

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस सतीश कैंथ ने पानी के मुद्दे पर कुछ सवाल पूछे गए हैं और इस दौरान इन सवालों के जवाबों पर चर्चा की जा रही है। यादव बोले- आगे के जो भी बिल आएंगे वह पुराने रेट पर ही भेजे जाएंगे लेकिन  अधिसूचना के अंदर पहले लिए जा चुके बढ़े हुए रेट एडजस्ट करने का कोई जिक्र नहीं है। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस सतीश कैंथ ने पानी के मुद्दे पर कुछ सवाल पूछे गए हैं और इस दौरान इन सवालों के जवाबों पर चर्चा की जा रही है। यादव बोले- आगे के जो भी बिल आएंगे वह पुराने रेट पर ही भेजे जाएंगे लेकिन  अधिसूचना के अंदर पहले लिए जा चुके बढ़े हुए रेट एडजस्ट करने का कोई जिक्र नहीं है।

नगर निगम चंडीगढ़ की वर्चुअल बैठक शुरू हो चुकी है। बैठक के शुरुआत में ही पानी के मुद्दे पर कांग्रेस पार्षदों ने जोरदार हंगामा किया। इसके बाद भाजपा और कांग्रेस के पार्षद आपस में उलझे और ये प्रस्ताव पास किया गया कि हाल ही में पास की गई पानी के बढ़े हुए रेट की अधिसूचना को तुरंत खारिज किया जाए।

बता दें कि पिछले हफ्ते ही प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने एक अधिसूचना जारी की थी। जिसके मुताबिक अगले साल 31 जनवरी तक पानी के बढ़े हुए रेट लागू नहीं होंगे। हालांकि इस फैसले का कांग्रेस पार्षदों ने स्वागत किया है, लेकिन साथ ही ये भी कहा है कि जिन लोगों से बढ़े हुए रेटों के पैसे वसूले जा चुके हैं, उनके पैसे अगले बिलों में एडजस्ट होने चाहिए। इसलिए सोमवार को हुई बैठक में इस प्रस्ताव को भी पास कर दिया गया है। सीवरेज सेस भी 30 से कम करके 5 फीसदी करने का प्रस्ताव पास किया गया है।

नए सिरे पर हो रेट पर चर्चा
इस दौरान यह प्रस्ताव पास भी किया गया है कि अब नए सिरे से पानी के रेट पर चर्चा हो। लेकिन कमिश्नर केके यादव रेट कम करने के पक्ष में नहीं हैं क्योंकि उनके मुताबिक नगर निगम को इससे फाइनेंशियल नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा कोई प्रस्ताव अब प्रशासन के पास जाएगा उसमें वह आपत्ति दर्ज करेंगे।

कांग्रेस सतीश कैंथ ने पानी के मुद्दे पर कुछ सवाल पूछे गए हैं और इस दौरान इन सवालों के जवाबों पर चर्चा की जा रही है। यादव बोले- आगे के जो भी बिल आएंगे वह पुराने रेट पर ही भेजे जाएंगे लेकिन अधिसूचना के अंदर पहले लिए जा चुके बढ़े हुए रेट एडजस्ट करने का कोई जिक्र नहीं है।

खबरें और भी हैं...