• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Election War On Education In Punjab, Minister Pargat Singh Said We Are First In School Education And Delhi At Number 6; Arvind Kejriwal Don't Worry

पंजाब में शिक्षा पर चुनावी जंग:मंत्री परगट सिंह बोले - स्कूल एजुकेशन में हम पहले और दिल्ली 6वें नंबर पर; अरविंद केजरीवाल चिंता न करें

चंडीगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले शिक्षा पर सियासी जंग छिड़ गई है। AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब में दिल्ली का शिक्षा मॉडल लागू करना चाहते हैं। जिसके लिए उन्होंने अमृतसर में शिक्षकों को 8 गारंटी भी दी। इसको लेकर अब पंजाब के शिक्षा मंत्री ने दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोला है। परगट सिंह ने कहा कि स्कूल एजुकेशन में पंजाब पहले और दिल्ली 6वें नंबर पर है। केजरीवाल पंजाब की चिंता न करें। यहां पहले ही शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति चल रही है।

परगट सिंह का केजरीवाल को जवाब
परगट ने केजरीवाल से कहा कि पंजाब में पहले ही शिक्षा में क्रांति हो रही है। यह अलग बात है कि आप इसे मिस कर गए। यह समझ भी आता है क्योंकि दिल्ली वालों को सिर्फ पंजाब में चुनाव के दौरान ही आने का वक्त मिलता है।

परगट सिंह का केजरीवाल को दिया जवाब
परगट सिंह का केजरीवाल को दिया जवाब
  • पंजाब ने स्कूल एजुकेशन के नेशनल परफार्मेंस ग्रेड इंडेक्स (NPGI) में टॉप किया है। दिल्ली के मुकाबले पंजाब पढ़ाई से लेकर इन्फ्रास्ट्रक्चर तक पहले नंबर पर रहा है।
  • पंजाब में टीचर-स्टूडेंट अनुपात भी दिल्ली के मुकाबले बेहतर है। पंजाब में 4% के मुकाबले दिल्ली में 15% स्कूलों में यह अनुपात खराब है। केजरीवाल पंजाब की चिंता करने से पहले दिल्ली का सिस्टम सुधारें।
  • केजरीवाल को पंजाब की पूरी जानकारी नहीं है। इसलिए बता देता हूं कि हम दिसंबर अंत तक 20 हजार टीचर भर्ती कर रहे हैं। इससे पहले हम 8,886 टीचरों को रेगुलर कर चुके हैं। इसके अलावा 1,117 स्टाफ को प्रमोट कर चुके हैं।
  • पंजाबियों को हमारे सरकारी स्कूल सिस्टम पर पूरा भरोसा है। पिछले 4 वर्षों में पंजाब के सरकारी स्कूलों की प्राइमरी क्लास में स्टूडेंट्स की गिनती 1.93 लाख से बढ़कर 3.3 लाख हो चुकी है।
शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने 6 ट्वीट कर जवाब दिया
शिक्षा मंत्री परगट सिंह ने 6 ट्वीट कर जवाब दिया

परगट ने कहा कि केजरीवाल को पंजाब के टीचरों की ट्रांसफर पॉलिसी को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। यह भारत की सबसे बेहतर और पारदर्शी पॉलिसी है। जो पूरी तरह ऑनलाइन है। टीचरों को घर के नजदीक स्टेशन चुनने की आजादी है और साल में यह सिर्फ एक ही बार की जाती है।

अरविंद केजरीवाल ने अमृतसर में पंजाब की शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाए थे
अरविंद केजरीवाल ने अमृतसर में पंजाब की शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाए थे

केजरीवाल ने टीचरों को दी थी 8 गारंटी
पंजाब दौरे पर अमृतसर पहुंचे अरविंद केजरीवाल ने शिक्षकों को 8 गारंटी दी थी। जिसमें पंजाब के शिक्षकों के लिए शिक्षा प्रणाली को बदलने, कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे टीचरों को पक्का करने, ट्रांसफर पॉलिसी बदलने, सभी पद भरने, विदेश से ट्रेनिंग दिलवाने, समय पर प्रमोशन, कैशलेस मेडिकल सुविधा के साथ टीचरों से कोई गैर शिक्षण कार्य न लेना शामिल है। जिसके बाद पंजाब के शिक्षा मंत्री का यह जवाब आया है।

खबरें और भी हैं...