• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Emergency Medical Officers Were Found Sleeping, Officers Were Busy On Mobile In Many Places, Liquor Was Running Near The Oxygen Plant

हेल्थ सेक्रेटरी ने आधी रात की अस्पतालों की चेकिंग:इमरजेंसी मेडिकल अफसर सोते मिले, कई जगह ऑॅफिसर मोबाइल पर थे व्यस्त, ऑक्सीजन प्लांट के पास चल रही थी शराब

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीएमसीएच-32 में स्टाफ से पूछताछ करते यशपाल गर्ग (पीली टी-शर्ट में) - Dainik Bhaskar
जीएमसीएच-32 में स्टाफ से पूछताछ करते यशपाल गर्ग (पीली टी-शर्ट में)

हेल्थ सेक्रेटरी यशपाल गर्ग रविवार देर रात शहर के सभी सरकारी अस्पतालों की चेकिंग पर निकले। सरप्राइज चेकिंग के दौरान उनके साथ उनका ड्राइवर ही था। इस दौरान कई तरह की खामियों उन्होंने अलग अलग अस्पतालों में मिलीं। कहीं पर सिक्योरिटी को लेकर खामियां पाई गई हैं तो कहीं पर इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर्स ही इमरजेंसी से गायब थे। वहीं, जीएमसीएच सेक्टर-32 में तो अंजान लोग अंदर गाड़ी खड़ी कर आराम से शराब पीते हुए पाए गए।

हांलाकि इस विजिट के बाद सेक्रेटरी की तरफ से किसी अफसर या डाॅक्टर पर कार्रवाई नहीं की गई है, लेकिन दिशा निर्देश जरूरी जारी किए गए हैं। कहा गया है कि अगर ड्यूटी के दौरान अब कोई दूसरी जगह पर मिलता है तो कार्रवाई होगी। वहीं जीएमसीएच-32 में शराब पीने के मामले में एसएसपी को लेटर भेजकर कार्रवाई करने के लिए लिखा है। बहुत दिनों के बाद देखा गया है कि हेल्थ सेक्रेटरी देर रात चेकिंग पर निकले हों।

सिविल हॉस्पिटल मनीमाजरा में (रात 11:20 बजे से 11:35 बजे तक)
यहां पर ईएमओ ड्यूटी पर मौजूद था और वार्ड के राउंड पर थे। यहां सिक्योरिटी गार्ड्स ने तो फेस मास्क लगाए हुए थे लेकिन मेडिकल स्टाफ बिना फेस मास्क के ही मिला।

जीएमसीएच-32: (रात 12:20 बजे से 12:55 तक)
सिक्योरिटी गार्ड्स का सुपरवाइजर बिरेंद्र सिंह मोबाइल पर व्यस्त था, इमरजेंसी में कौन आ रहा है और कौन जा रहा है इस तरफ उसका ध्यान नहीं था।
ईएमओ डाॅ. मोनिका थी लेकिन वे इमरजेंसी में नहीं थी। साथ लगते रूम में वे अपने फोन में व्यस्त दिखी।
इमरजेंसी में ओम प्रकाश अटेंडेंट था, जो पांच-छह लोगों के साथ खड़ा बातें कर रहा था। किसी ने भी मास्क नहीं लगाया हुआ था। करीब पांच मिनट यहां सेक्रेटरी खड़े रहे और जब ओमप्रकाश से पूछा कि क्या वे ईएमओ हैं तो उन्होंने कहा कि नहीं डाॅक्टर कहीं गए हुए हैं। बाद में जब ओम प्रकाश को पता चला कि ये सेक्रेटरी हेल्थ हैं तो वे ईएमओ के पास गए जो साथ लगते रूम में अपने फोन में व्यस्त थी। उन्होंने आते ही कहा कि अभी दो मिनट पहले ही वो यहां से गई थी।
यहां से ऑक्सीजन प्लांट में गए जहां पर उन्होंने सभी स्टाफ से बात की और प्लांट की वर्किंग को लेकर जानकारी ली।

जीएमसीएच-32 की पार्किंग दो कारों में सवार युवक पी रहे थे शराब
रात करीब 12:40 बजे सेक्रेटरी हेल्थ यशपाल गर्ग जीएमसीएच-32 के ऑक्सीजन प्लांट के सामने पहुंचे तो यहां दो गाड़ियां इसके गेट के सामने खड़ी थी। इनमें करीब 6 लोग थे जो शराब पी रहे थे। यहां पर वे जोर जोर से और आपस में ही गालियां देते हुए बात कर रहे थे। गर्ग ने उनसे पूछा कि क्या उनका कोई मरीज यहां हॉस्पिटल में भर्ती है? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि नहीं वे यहां पर सिर्फ खाना खाने के लिए आए हैं। गर्ग ने उनको हॉस्पिटल से जाने के लिए कहा और जो भी कचरा फैलाया हुआ था उसको भी हटाने के लिए कहा। उन्होंने इसके लिए इन्कार कर दिया। बाद में वे वहां से चले गए। यहां हॉस्पिटल में देर रात कई लोग पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर शराब पीते हैं।

गाड़ियों के नंबर दे एसएसपी को कहा-कार्रवाई करें
सेक्रेटरी हेल्थ ने एसएसपी को लेटर भेजा है। कहा कि इन लोगों की पहचान कर इन पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने इसमें दो गाड़ियों के नंबर दिए हैं जिसमें एक स्विफ्ट कार थी जिसका नंबर सीएच-01एएन 7904 था दूसरी सुजूकी कार सीएच-01बीयू1731 थी।

खबरें और भी हैं...