पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सेहत विभाग की एक और लापरवाही:पहले कार्ड पर किसी दूसरे का टेस्ट कराया, फिर नेगेटिव की जगह थमा दी पॉजिटिव रिपोर्ट

चंडीगढ़14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गलत रिपोर्ट के कारण पिता की क्रिया में नहीं जा सके नरिंदर कुमार

53 साल के नरिंदर कुमार को हॉस्पिटल की एक छोटी से लापरवाही के कारण बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। नरिंदर ने उत्तराखंड जाना था, जिसके लिए वह सेक्टर-16 में अपना कोविड टेस्ट करवाने आया। उसे सुबह से दोपहर तक हॉस्पिटल में बिठाए रखा लेकिन उसका टेस्ट नहीं किया गया। इस बीच डिपार्टमेंट ने गलती से किसी और नरिंदर कुमार का उसी के कार्ड पर टेस्ट कर दिया। जब नरिंदर ने टेस्ट के बारे में पूछा तो बताया गया कि उसका तो टेस्ट हो चुका है। उसे सुनकर बड़ी हैरानी हुई। नरिंदर ने कहा कि मैं तो सुबह से यहां बैठा हूं, मेरा टेस्ट आपने किया ही नहीं तो अपने आप कैसे हो गया। फिर डिपार्टमेंट को पता लगा कि उनसे गलती हो गई है।

नतीजा ये हुआ कि हॉस्पिटल ने गलती से जिस नरिंदर का टेस्ट कर दिया था, उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई जबकि 53 साल नरिंदर की रिपोर्ट नेगेटिव थी। डिपार्टमेंट की इस गलती के कारण नरिंदर को दो दिन से क्वारेंटाइन के लिए फोन आ रहे हैं जबकि उनकी रिपोर्ट तो नेगेटिव आई थी। मौलीजागरां के रहने वाले नरिंदर कुमार ने बताया कि उनके पिता उत्तराखंड में रहते थे और उनका 9 सितंबर को देहांत हो गया था। वे अपने पिता के संस्कार पर तो किसी तरह पहुंच गए थे। उन्हें 15 को पिता की 13वीं और अन्य रस्म क्रिया से के लिए पहुंचना जरूरी था। इसलिए वे टेस्ट करवाने गए थे।

मंगलवार को करवाया टेस्ट, रिपोर्ट नेगेटिव... नरिंदर ने बताया कि डिपार्टमेंट की गलती के कारण उन्हें काफी परेशान होना पड़ा। उनके कार्ड पर जिस नरिंदर का टेस्ट हुआ था, वह पॉजीटिव आ गया। अब क्वारेंटाइन के लिए फोन उन्हें आने शुरू हो गए हैं। कभी हेल्थ डिपार्टमेंट से तो कभी एसडीएम ऑफिस से नरिंदर को फोन आने लग गए।

उन्हें लगा कि कहीं वे पिता की क्रिया के लिए चले गए तो पीछे से उनके परिवार को जबरदस्ती क्वारेंटाइन न कर दें। इसलिए वे मंगलवार को उत्तराखंड के लिए रवाना ही नहीं हो सके। अब वे मंगलवार को दोबारा सेक्टर-16 हॉस्पिटल गए और अपने टेस्ट की प्रिंटेड रिपोर्ट ली और उन्हें बताया कि वे नेगेटिव हैं और उन्हें क्वारेंटाइन न किया जाए।

इन दिनों सेक्टर 16 हॉस्पिटल में काफी ज्यादा संख्या में करोना के टेस्ट हो रहे हैं। ऐसा हो सकता है कि गलती से किसी दूसरे का टेस्ट हो गया हो लेकिन मैं मानता हूं कि ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए। अगर जरूरत पड़ी तो नरिंदर का दोबारा टेस्ट कर दिया जाएगा।
-डॉ वीरेंद्र नागपाल, मेडिकल सुपरिटेंडेंट जीएमएसएच सेक्टर-16

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें