• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Flood Spoiled 40% Of Basmati Crop In Pakistan, Demand Increased 20% In International Market, Punjab's Traders farmers Would Get 6500 Crore More

बाढ़ से पाक में बासमती की 40% फसल खराब:अंतरराष्ट्रीय बाजार में मांग 20% बढ़ी, पंजाब के व्यापारियोंं-किसानों को 6500 करोड़ ज्यादा मिलेंगे

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुनिया में इस बार बासमती चावल की मांग में 20 फीसदी का इजाफा हुआ है, जिसके चलते पंजाब के व्यापारियों और किसानों को पिछले साल की तुलना में 40 फीसदी यानी करीब 6500 करोड़ रुपए ज्यादा मिलने की संभावना है। विशेषज्ञों के अनुसार डिमांड बढ़ने की असल वजह पाकिस्तान जो दुनिया में बासमती की प्रमुख निर्यातक है वहां पर 40 फीसदी फसल बाढ़ से तबाह हो गई है। चावल कारोबारी विवेक गोयल का कहना है कि बासमती के भाव में बीते दो महीनों में तेजी आ गई है। पंजाब की अमृतसर पट्टी से आ रही बासमती धान के भाव बीते साल के मुकाबले 1000 रुपए प्रति क्विंटल अधिक मिल रहे हैं।

पंजाब में सबसे पहले आने वाली बासमती की किस्म ‘पूसा 1509’ को इस समय 3400 से 3700 रुपए प्रति क्विंटल का भाव मिल रहा है, जबकि पिछले साल इसका भाव 2300 से 2900 रुपए प्रति क्विंटल था। पंजाब एंड ऑल इंडिया राइस मिलर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट तरसेम सैणी के अनुसार पंजाब में बीते साल 48 लाख टन बासमती का उत्पादन हुआ। इस साल 50 लाख टन बासमती होने की उम्मीद है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में बासमती के भाव ~15 हजार प्रति टन बढ़े

2021-22 में भारत ने 39.48 लाख टन बासमती चावल का निर्यात किया था, इसमें 40 फीसदी यानी 16 लाख टन अकेले पंजाब से था। 2022-23 के शुरुआती 4 महीनों में ही बासमती चावल का निर्यात 18.2 लाख टन तक पहुंच गया है, जो पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले 7 फीसदी अधिक है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारतीय बासमती इस साल मई में 1350 डॉलर (1.07 लाख रुपए) प्रति टन में बिक रहा था, जो अगस्त-सितंबर में 1550 डॉलर (1.24 लाख रुपए) प्रति टन से अधिक पहुंच गया है।

पंजाब से 16 हजार करोड़ रुपए का है निर्यात इस बार 40 फीसदी ज्यादा होने के आसार

भारत हर साल करीब 40 हजार करोड़ रुपए का बासमती चाल निर्यात करता है। पंजाब कुल चावल निर्यात में करीब 40 फीसदी का योगदान देता है। बीते साल में 16 हजार करोड़ रुपए का बासमती निर्यात किया गया। इस बार मांग बढ़ी है, पंजाब के चावल निर्यातकों और किसानों को 6500 करोड़ रुपए अधिक मिलने की संभावना है। इसलिए व्यापारी पहले से अधिक स्टोरेज के लिए तैयारी कर रहे हैं।

पाक में बीते साल 60 लाख टन बासमती का उत्पादन

पाकिस्तान में हर साल करीब 60 लाख टन बासमती का उत्पादन होता है। वर्ष 2021-22 में पाकिस्तान से 49 लाख टन बासमती का निर्यात हुआ है। इस साल बाढ़ के चलते 5 लाख टन बासमती की फसल पूरी तरह से तबाह हो गई है, जबकि 15 लाख टन बुरी तरह प्रभावित हुई है।

पाकिस्तान से बासमती का निर्यात 3 सप्ताह से ठप है

बाढ़ के चलते पाकिस्तान से बासमती का निर्यात 3 सप्ताह से ठप है। इस बार अंतरराष्ट्रीय बाजार में बासमती की डिमांड पिछले साल के मुकाबले करीब 20 फीसदी ज्यादा है। पंजाब के लिए इस बार अच्छा अवसर है।

तेजिंदर सिंह राजा, कंसल्टेंट, राइस एक्सपोर्ट्स

खबरें और भी हैं...