आतंकियों-गैंगस्टरों का गठजोड़ बना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती:माहौल खराब करने को बॉर्डर के युवाओं का गैंगस्टर, आतंकी कर रहे इस्तेमाल

चंडीगढ़4 महीने पहलेलेखक: सुखबीर सिंह बाजवा
  • कॉपी लिंक
  • सूबे की इंटेलिजेंस ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को लिखा- ठोस रणनीति बनाई जाए
  • आतंकियों-गैंगस्टरों का गठजोड़ बना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती

पंजाब पुलिस के लिए गैंगस्टर बड़ी चुनौती बनते जा रहे हैं। पंजाब के गैंगस्टरों का विदेशों में बैठे आतंकियों से गठजोड़ का पता चला है। राज्य की इंटेलिजेंस एजेंसियों ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को इससे निपटने के लिए ठोस रणनीति बनाने को भी कहा है। वहीं डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि पंजाब के बॉर्डर एरिया के बेरोजगार और जरूरतमंद युवाओं काे लालच देकर गैंगस्टर, आतंकी और तस्कर उनका इस्तेमाल कर रहे हैं।

ये जानकारी पंजाब पुलिस को हाल ही में पाकिस्तान से आने वाले ड्रोनों के जरिए हथियारों और नशे की सप्लाई के मामलों की प्राथमिक जांच के दौरान सामने आया है। बॉर्डर के युवा कुछ पैसों की लालच में हथियार और नशीले पदार्थों की डिलीवरी कर रहे हैं।

पंजाब से जुड़े ज्यादातर गैंगस्टर अमेरिका, कनेडा, इटली, जर्मन, मलेशिया और यूरोप के आतंकियों के संपर्क में हैं। यूपी और मध्य प्रदेश स्थित गैरकानूनी ढंग से हथियार बनाने वाले सप्लायरों के जरिए भी हथियार मंगवाए जा रहे हैं। राज्य पुलिस दो स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीमों का गठन करने जा रही है।

सूबे में तीन साल में 140 से अधिक हाईटेक रिवाल्वर और पिस्टल हुए बरामद : डीजीपी
राज्य पुलिस को पिछले तीन सालों के दौरान 140 रिवाल्वर, पिस्टल और अन्य विदेशी हाईटेक हथियार बरामद हुए हैं। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि विदेशी मार्क वाले हथियारों का मिलना राज्य पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। अब तक गिरफ्तार किए गए गैंगस्टरों से पूछताछ के दौरान सामने आया है कि पाकिस्तान समेत विदेशों में बैठे आतंकियों से गठजोड़ हो रहा है। इसके लिए गैंगस्टरों पर शिकंजा कसने के लिए केंद्रीय खुफिया एजेंसियों की सहायता ली जा रही है। जल्द ठोस रणनीति बनाई जाएगी।

दिल्ली, राजस्थान और हरियाणा के जेलों से गैंगस्टर चला रहे नेटवर्क
प्राथमिक जांच यह भी सामने आ रहा है कि पंजाब समेत दिल्ली, राजस्थान व हरियाणा की जेलें में बंद गैंगस्टर आपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं। पंजाब की इंटेलिजेंस विंग को मिली जानकारी के बाद संबंधित राज्यों के पुलिस मुखियोें को डिटेल रिपोर्ट भेज दी है।

गैंगस्टरों का नशा तस्करों से गठजोड़ का खुलासा जांच के लिए बनी टीम
लुधियाना, फिरोजपुर, फरीदकोट, बठिंडा और मोहाली से पकड़े गए गैंगस्टरों से पूछताछ में कई नामी नशा तस्करों से संबंधों का खुलासा हुआ है। इसके बाद काउंटर इंटेलिजेंस ने जांच के लिए विशेष टीम गठित की है। इसका नेतृत्व आईजी स्तर के अधिकारी कर रहे हैं। टीम गैंगस्टरों व तस्करों के नेटवर्क काे तोड़ेगी।

इधर, मुख्यमंत्री का निर्देश, विक्की मर्डर में लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई की जाए
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मोहाली में युवा नेता विक्की मिड्डू खेड़ा की हत्या के मामले में डीजीपी समेत इंटेलिजेंस के अधिकारियों को गैंगस्टरों पर शिकंजा कसने का निर्देश दिया। कहा कि किसी भी जिला अधिकारियों द्वारा लापरवाही व ढील को बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएम ने डीजीपी दिनकर गुप्ता को विक्की की हत्या की खुद जांच पर ध्यान देने को कहा गया है। इसके अलावा किसी भी जिला स्तर के पुलिस अधिकारी की जांच के दौरान लापरवाही मिलती है तो उसपर विभागीय र्कारवाई की जाए।

खबरें और भी हैं...