पुलिस चलाएगी क्लीन हरियाणा अभियान:गृहमंत्री अनिल विज ने कहा- हर व्यक्ति के साथ खाकी वाले खड़े नहीं हो सकते; थानों में होगी रैंडम जांच

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गृह मंत्री अनिल विज, जो प्रदेश में बढ़ते क्राइम को लेकर सख्त रुख अपनाए हुए हैं। - Dainik Bhaskar
गृह मंत्री अनिल विज, जो प्रदेश में बढ़ते क्राइम को लेकर सख्त रुख अपनाए हुए हैं।

हरियाणा में सेमी लॉकडाउन में पिछले 15 दिनों में पुलिस ने गंभीर अपराध के 297 मामले दर्ज किए हैं। 19 दिनों में 371 अवैध पिस्तौल पकड़े गए हैं। सबसे ज्यादा मामले गुरुग्राम और फरीदाबाद में दर्ज हुए। बढ़ते अपराध को देखते हुए हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने प्रदेश में क्लीन हरियाणा अभियान चलाने के निर्देश जारी किए हैं। मंत्री विज ने कहा कि हर व्यक्ति के साथ पुलिस को खड़ा नहीं किया जा सकता।

डीजीपी की अध्यक्षता में टीम

मंत्री विज ने कहा कि "क्लीन हरियाणा" अभियान के तहत पुलिस महानिदेशक मुख्यालय स्तर पर तीन या चार पुलिस टीमों का गठन करेंगे। हरियाणा के हर गांव, हर पुलिस थाना के क्षेत्र में रैंडम जांच की जाएगी। जिस थाना क्षेत्र में अवैध कारोबार व अवैध गतिविधियों में संलिप्त लोग पाए जाएंगे, उसके अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। तत्पश्चात पुलिस महानिदेशक रिपोर्ट तैयार करके उन्हें (गृह मंत्री) भेजेंगे। यदि निर्देश देने के बावजूद भी थाना क्षेत्र के एसएचओ, एसपी, सीपी के क्षेत्र में अवैध कारोबार करने वाले लोग मिलेंगे तो उनका ही दायित्व होगा। उसके बाद गृहमंत्री अपने स्तर पर निर्णय लेकर आगे की कार्रवाई करेंगे।

हर व्यक्ति के साथ पुलिस जवान खड़ा नहीं हो सकता

मंत्री विज ने कहा कि मैं हरियाणा के प्रत्येक व्यक्ति के साथ पुलिस जवान को खड़ा नहीं कर सकता, लेकिन मैं चाहता हूं कि अपराधियों के दिल दिमाग में भय पैदा हो, ताकि अपराध करने से पहले उनकी रूह कांप जाए। अपराध पर रोकथाम लगाने के लिए क्राइम से संबंधित एक पोर्टल तैयार किया जाएगा, जिसके बाद हर संबंधित पुलिस अधिकारी अपने स्तर पर पोर्टल के माध्यम से मामले की जानकारी देख सकेगा और उस मामले पर संबंधित अधिकारी द्वारा अगली कार्रवाई भी की जाएगी।

297 मामले दर्ज, 323 लोग गिरफ्तार

1 जनवरी से लेकर 15 जनवरी 2022 के दौरान अवैध हथियार की धरपकड़ के लिए चलाए गए अभियान के तहत कुल 297 मामले दर्ज किए गए। 323 लोगों को गिरफ्तार किया गया। 11 जनवरी, 2022 से लेकर 19 जनवरी, 2022 के दौरान जुआ, सट्टा, नशे के कारोबार और अवैध शराब में संलिप्त लोगों के खिलाफ अभियान चलाया गया, जिसके तहत 1038 पुलिस टीमों का गठन किया गया और 5682 छापे मारे गए।

2446 मामले दर्ज किए गए और 2664 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। इन लोगों से 27 लाख 31 हज़ार 709 रुपए की नगद राशि रिकवर की गई और 64 पिस्तौल 64 कारतूस भी बरामद किए गए। 23,229 शराब की बोतलें बरामद की गईं और 233.52 किलोग्राम गांजा बरामद किया गया तथा 337.36 ग्राम स्मैक बरामद किया गया। 2284.57 ग्राम हेरोइन भी बरामद की गई।

जिला, मामले, गिरफतार, बरामद

गुरुग्राम -54 -54 -56 पिस्तौल -25 कारतूस

फरीदाबाद - 30 -33 -24 पिस्तौल-11 कारतूस- 6 चाकू

अम्बाला -12- 12- 8 पिस्तौल-16 कारतूस - 3 चाकू

कुरुक्षेत्र -2- 2- 2 पिस्तौल- 1 कारतूस यमुनानगर -11- 12- 12 पिस्तौल- 11 कारतूस

करनाल -8- 8-8 पिस्तौल- 1 कारतूस

कैथल-4- 6 -4 पिस्तौल-15 कारतूस

पानीपत-7- 7- 6 पिस्तौल- 2 कारतूस​​​​​​​

रोहतक-15- 15- 16 पिस्तौल- 5 कारतूस सोनीपत-24-25-21 पिस्तौल-14 कारतूस- 1 चाकू

झज्जर-16- 21- 20 पिस्तौल- 13 कारतूस - 1 बंदूक

दादरी - 6-6- 6 पिस्तौल- 2 कारतूस

भिवानी- 9- 9- 8 पिस्तौल-11 कारतूस - 3 मैगजीन

हिसार- 13-13- 14 पिस्तौल-17 कारतूस

हांसी-4-5- 5 पिस्तौल- 9 कारतूस - 3 तलवार- 3 फरसा सिरसा- 6- 7-5 पिस्तौत-1 बंदूक

फतेहाबाद- 9- 10-9 पिस्तौल- 6 कारतूस

जींद -8- 11- 8- 7 कारतूस -1 बंदूक

रेवाड़ी- 12- 14- 15 पिस्तौल- 52 कारतूस - 1 चाकू

नारनोल- 8-11- 8 पिस्तौल- 6 कारतूस

पलवल-25- 33- 43 पिस्तौल- 102 कारतूस- 2 मैगज़ीन

नूंह - 1-1- 1 पिस्तौल-2 कारतूस रेलवे पुलिस-6- 1-1 पिस्तौल- 5 कारतूस - 3 चाकू

खबरें और भी हैं...