• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Homi Bhabha Cancer Hospital Being Built In New Chandigarh Will Open In November, Patients From Many States Of North India Will Benefit From This

नवंबर में खुलेगा न्यू चंडीगढ़ का 'होमी भाभा कैंसर अस्पताल':50 एकड़ में हो रहा निर्माण, थर्ड स्टेज के मरीजों का भी होगा इलाज; पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश समेत कई राज्यों को होगा फायदा

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ के पास मोहाली जिले के न्यू चंडीगढ़ में होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र बन कर तैयार हो रहा है। यह अस्पताल नवंबर माह में पूरी तरह से बन कर तैयार हो जाएगा। पंजाब सरकार की प्रिंसिपल सेक्रेटरी विनी महाजन ने बताया कि यह अत्याधुनिक कैंसर अस्पताल नवंबर माह में काम करने लगेगा। उन्होंने कहा कि संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि इस प्रोजेक्ट का जो भी काम बाकी है उसे जल्द पूरा किया जाए। यहां पर कैंसर की थर्ड स्टेज के मरीजों का भी इलाज किया जाएगा। इस अस्पताल का नींव पत्थर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने दिसंबर 2013 में रखा था।

कई तरह के रोगों का इलाज होगा
प्रिंसिपल सेक्रटरी विनी महाजन ने इस कैंसर अस्पताल के चल रहे निर्माण कार्यों को देखने के लिए दौरा किया, इस मौके उनके साथ कई संबंधित अधिकारी भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि 300 बेड वाला यह अत्याधुनिक अस्पताल पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश सहित पूरे उत्तरी क्षेत्र को कवर करेगा। यहां पर कैंसर की थर्ड स्टेज के मरीजों का भी इलाज किया जाएगा। प्रिंसिपल सेक्रटरी ने कहा कि अस्पताल में रेडियोथेरेपी, रेडियोलॉजी, सीटी स्कैन, एमआरआई, अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे, मैमोग्राफी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, कीमोथेरेपी, डे-केयर वार्ड, पैथोलॉजी और लैब सुविधाएं, माइनर ओटोलॉजी, नेत्र विज्ञान और चिकित्सा सेवाएं प्रदान करवाई जाएंगी।

कई सुविधाऐं मिलेंगी
इसके अलावा सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी आदी सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। प्रिंसिपल सेक्रटरी ने कहा कि परमाणु ऊर्जा विभाग के तहत टाटा मैमोरियल सेंटर मुंबई की एक इकाई 663.74 करोड़ रुपए की लागत से 40,545 वर्ग मीटर के क्षेत्र में स्थापित की जा रही है, जिसके लिए 50 एकड़ जमीन पंजाब सरकार की ओर से मुफ्त दी गई है।

डॉक्टरों-नर्सों को सुविधा
डॉक्टरों और नर्सो के लिए रिहायशी हॉस्टल और फैकल्टी के लिए रिहायश की सुविधा होगी। इसके अलावा अस्पताल में विशेष तौर पर बनाई गई धर्मशाला में कैंसर के मरीजों व उनके परिजनों के लिए ठहरने की सुविधाएं भी प्रदान की जाएगी। अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों के परिजनों के लिए रहने की व्यवस्था होने से उन्हें राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...