IELTS इंस्टीट्यूट का लाइसेंस सस्पेंड:जीरकपुर में 3 महीने से नहीं हो रहा था काम; नोटिस के बाद नहीं आया जवाब

चंडीगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहाली की एडिशनल जिला मैजिस्ट्रेट अमनिंदर कौर बराड़।    (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मोहाली की एडिशनल जिला मैजिस्ट्रेट अमनिंदर कौर बराड़। (फाइल फोटो)

मोहाली जिला प्रशासन ने IELTS इंस्टिट्यूट- ईलाइट अप एकेडमी का लाइसेंस 90 दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया है। जीरकपुर स्थित इस एकेडमी पर यह कार्रवाई इसलिए की गई है क्योंकि 3 महीनों से लगातार IELTS की कोचिंग नहीं हो रही थी। इंस्टिट्यूट के लाइसेंस धारक से जवाब तलब किया गया है। नोटिस मिलने के बाद भी संस्था की ओर से प्रशासन के समक्ष कोई पेश हुआ और ना ही कोई जवाब आया।

एक साल बाद खत्म होता लाइसेंस

बताया गया है कि प्रशासन की ओर से ईलाइट अप एकेडमी को 9 अगस्त, 2023 तक इस लाइसेंस दिया गया था। मोहाली की एडिशनल जिला मजिस्ट्रेट अमनिंदर कौर बराड़ ने लाइसेंस रद्द करने के आदेश जारी किए हैं। पंजाब ट्रैवल प्रोफेशनल रेगुलेशन एक्ट, 2012 की धारा 6(1) (जी) के तहत प्राप्त शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए जीरकपुर के पीर मुछल्ला में बनी इस एकेडमी का लाइसेंस कैंसिल किया गया है।

नोटिस का नहीं दिया कोई जवाब

एडिशनल जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि इंस्टिट्यूट पिछले 3 महीनों से लगातार IELTS का काम करने में असमर्थ रहा। उन्होंने कहा कि लाइसेंसी को हिदायत भी दी गई थी कि लाइसेंस के अधीन काम करे। उन्हें 15 दिनों के लिए अपनी स्थिति स्पष्ट करने के लिए नोटिस जारी किया गया है कि क्यों ना उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाए। आगामी कार्रवाई इंस्टीट्यूट द्वारा नोटिस का जवाब देने के बाद की जाएगी।

इमीग्रेशन कंसलटेंसी का कर चुके लाइसेंस रद्द

हाल ही में इसी प्रकार फेज 11 स्थित एक इमीग्रेशन कंसलटेंसी का लाईसेंस सस्पेंड किया गया था। आरोप के मुताबिक उसने पैसे लेकर व्यक्ति को विदेश नहीं भेजा था। मोहाली थाने में केस भी दर्ज हुआ था। जिला प्रशासन ने कंसलटेंसी से दस्तावेज मांगे मगर उपलब्ध नहीं करवाए गए। जिसके बाद यह कार्रवाई हुई थी।