पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संकट में परिंदे:चंडीगढ़ की सुखना लेक में 2014 में फैले बर्ड फ्लू के कारण 90 से ज्यादा बत्तखों को मौत के घाट उतार दिया था

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुखना लेक पर आने वाले सैलानियों के लिए बत्तखें आकर्षण का केंद्र होती थी। 2014 में आए बर्ड फ्लू के चलते 90 से अधिक बत्तखों को मौत के घाट उतार दिया गया था। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
सुखना लेक पर आने वाले सैलानियों के लिए बत्तखें आकर्षण का केंद्र होती थी। 2014 में आए बर्ड फ्लू के चलते 90 से अधिक बत्तखों को मौत के घाट उतार दिया गया था। फाइल फोटो
  • सुखना लेक को देखने आने वाले लोग बत्तखों को देख कर खिल उठते थे

शहर में एक बार फिर बर्ड फ्लू का खतरा मंडरा रहा है। चंडीगढ़ के साथ हरियाणा के लगते इलाकों में जहां पोल्ट्री फॉर्म है वहां पर इन दिनों मुर्गियों के रहस्यमयी बिमारी के चलते मरने से खतरा मंडरा रहा है। विभाग की ओर से मरी हुई मुर्गियों को जांच के लिए लैब में भेजा गया है,जिसकी रिपोर्ट आने के बाद ही पूरी जानकारी पता लगेगी। बरवाला और रायपुररानी इलाके के पोल्ट्री फार्म से चंडीगढ़ में अंडों व चिकन सप्लाई होती है। अब जब बर्ड फ्लू को लेकर चर्चा हाेने लगी है तो लोग भी अंडों व मीट के प्रति परहेज करने लगे है।

इस साल भी सुखना लेक पर कई विदेशी पक्षी पहुंचे है
इस साल भी सुखना लेक पर कई विदेशी पक्षी पहुंचे है

चंडीगढ़ में 2014 में फैला था बर्ड फ्लू

शहर की सुखना लेक में बर्ड फ्लू फैलने के कारण साल 2014 में 100 से ज्यादा बत्तखों को विभाग की ओर से मार कर जला दिया गया था। सुखना लेक की शान बत्तखों को बर्ड फ्लू की बिमारी विदेशों से आने वाले पक्षियों के कारण हुई थी। इस बार भी सुखना लेक में काफी संख्या में विदेशी पक्षी आए हुए है।

लेक पर पक्षियों को चारा न देने के बोर्ड लगाए गए है
लेक पर पक्षियों को चारा न देने के बोर्ड लगाए गए है

सुखना में लोगों को जाने से मनाही कर दी थी

सुखना लेक पर जब 2014 में पिछली बार बर्ड फ्लू फैला था तो सुखना लेक की घेराबंदी करके किसी भी लोग को वहां जाने से पूरी तरह से मनाही कर दी गई थी। उस समय लेक पर एक विदेशी पक्षी मृत मिला था जिसके बाद उसकी जांच में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद बत्तखों की जांच की गई। लेक पर बोटिंग और पर्यटन को लेकर सारी गतिविधियों को बंद करवा दिया गया था। पुलिस को लेक पर तैनात करके अधिकारियों की निगरानी में खूबसूरत बत्तखों को बेदर्दी से मौत के घाट उतार दिया गया था।

हिमाचल से आया खतरा

हिमाचल के पौंग डैम में भी पिछले कुछ दिनों से कई विदेशी पक्षियों के बर्ड फ्लू के चलते मारे जाने के कारण अब सुखना लेक पर भी विदेशों से आए पक्षियों को लेकर संबंधित विभाग सचेत हो गए है। कर्मचारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। अगर किसी पक्षी में कोई संवेदनशील लक्षण पाए जाते हैं या कोई पक्षी संदेह अवस्था में मृत पाया जाता है तो नमूना लिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

और पढ़ें