• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • In Chandigarh, Health Workers Will Go Door to door On Monday To Find Out Those Who Are Not Over 45 Years Old Who Have Not Taken The Vaccine Dose.

डोर-टू-डोर सर्वे:चंडीगढ़ में सोमवार से हेल्थ वर्कर घर-घर जाकर 45 साल से ज्यादा उम्र वाले लोगों का पता लगाएंगे, जिन्होंने वैक्सीन की डोज नहीं ली है

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में 84 हजार से ज्यादा लोगों ने ली वैक्सीन की डोज। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
शहर में 84 हजार से ज्यादा लोगों ने ली वैक्सीन की डोज। फाइल फोटो
  • हेल्थ वर्कर लोगों को वैक्सीनेशन के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए काम करेंगी

हेल्थ डिपार्टमेंट ने 45 साल या उससे अधिक उम्र वर्ग के जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवाई है, उसका पता लगाने और उन्हें टीका लगवाने के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए अब हेल्थ वर्कर्स की ड्यूटी लगाई जा रही है। डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज डाॅ. अमनदीप कंग ने बताया कि वैक्सीनेशन प्रोग्राम से जुड़ी हेल्थ वर्कर्स (ANM) को अपने-अपने एरिया की पॉपुलेशन की जानकारी होती है, उन्हें अपने एरिया में रहने वाले हर उम्र वर्ग के लोगों के बारे में पता होता है।

सोमवार से डोर-टू-डोर

कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम में और तेजी लाने के लिए अब शहर के विभिन्न सेक्टरों की ANM को सोमवार से डोर-टू डोर भेजा जाएगा। वे 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के बारे में जानकारी एकत्र करेंगी। साथ ही हर घर में जाकर इस उम्र वर्ग के लोगों ने वैक्सीनेशन करवाया है या नहीं इसकी जानकारी हेल्थ डिपार्टमेंट के साथ साझा करेंगी। जिसके बाद उन लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए हेल्थ डिपार्टमेंट जागरूकता अभियान चलाएगा।

शहर में 84 हजार से ज्यादा ने ली डोज

अभी तक शहर में हेल्थ वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स और 45 साल या उससे अधिक उम्र वर्ग के लोगों को मिलाकर कुल 84096 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई है। 60 साल या उससे अधिक उम्र के 32899 बुजुर्गों ने वैक्सीनेशन की पहली डोज लगवा ली है। 422 बुजुर्ग सेकंड डोज लगवा चुके हैं। केंद्र के निर्देश पर शनिवार और रविवार को भी हेल्थ डिपार्टमेंट टीकाकरण अभियान चलाएगा ताकि छुट्‌टी के दिन ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन लगवाने के लिए आ सकें।

मोटिवेट किया जाएगा

हेल्थ डिपार्टमेंट माइक्रो वैक्सीनेशन की तैयारी कर रहा है। ANM घर-घर जाकर 45 साल या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए मोटिवेट करेंगी। ये डेटा तैयार कर हेल्थ डिपार्टमेंट और प्रशासन के साथ शेयर करेंगी। दरअसल, चंडीगढ़ में हर रोज एवरेज 250-270 नए मामले आ रहे हैं। केस न बढ़े, इसके लिए एक तरफ माइक्रो कंटेनमेंट जोन को लेकर प्लानिंग है। इसके तहत जिस भी एरिया में एक साथ कुछ नए मामले आएं वहां पर दो या तीन घरों को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना दिया जाए।

केंद्र से आई टीम ने ज्यादा वैक्सीनेशन करने को कहा

केंद्र से आई टीम ने भी इसी को लेकर प्रशासन को सुझाव दिया है। दूसरा वैक्सीन जितना ज्यादा लोग लगवाएंगे। उससे आगे संक्रमण की रोकथाम हो सकेगी। एक तरफ माइक्रो कंटेनमेंट जोन तो दूसरी तरफ उन लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए उनको मोटिवेट करना है जो किसी न किसी गलत जानकारी के चलते अभी भी वैक्सीन लगवाने को सेंटर नहीं आ रहे हैं।