• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • In Order To Reach The Ears Of The Government And Officials, The Council Members Came From Tapa In Punjab And Put Their Point In Chandigarh.

कांग्रेस पर धक्के-शाही का आरोप:पंजाब के तपा से आकर काउंसलर्स ने कहा- अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव हो जा रहा था तो DSP उनके एक काउंसलर को पकड़ कर ले गए

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंजाब के तपा मंडी के काउंसलरों ने कांग्रेस पर आरोप लगाया। - Dainik Bhaskar
पंजाब के तपा मंडी के काउंसलरों ने कांग्रेस पर आरोप लगाया।

पंजाब में सत्ता पक्ष की ओर से अपने विरोधियों पर किस तरह से धक्के शाही कर रही है,उसकी आवाज पहुंचाने के लिए पंजाब के तपा मंडी के काउंसलरों ने चंडीगढ़ में आकर अपनी प्रेस कांफ्रेंस की। काउंसलरों ने कहा कि नगर काउंसिल में 20 अप्रैल को अध्यक्ष व उपाध्यक्ष का चुनाव होने वाला था तो उन्हें जाने नहीं दिया गया और इसी दौरान कांग्रेस के काउंसलरों को अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बना दिया गया।

कांग्रेस पर आरोप

तपा नगर कौंसिल के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के होने वाले चुनावों को निष्पक्ष न करवाये जाने को लेकर अकाली और निर्दलीय काउंसलरों ने कांग्रेस के सत्ता पक्ष पर धक्केशाही के आरोप लगाए हैं। विपक्षी काउंसलर का कहना है कि सत्ता पक्ष ने नगर कौंसिल में अपना अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनाए जाने को लेकर सरकारी मशीनरी और शक्तियों का दुरुपयोग किया है। चंडीगढ़ में आज प्रेस कान्फ्रेंस में तपा के काउंसलर तरलोचन बंसल ने बताया कि तपा नगर काउंसिल में कुल 15 काउंसलर हैं। जिसमें से हमारे ग्रुप में अकाली दल और निर्दलीय मिला कर 8 काउंसलर हैं और विरोधी ग्रुप में 7 काउंसलर हैं।

तपा मंडी के अध्यक्ष का चुनाव 20 को था

तपा मंडी के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव की तारीख 20 अप्रैल 2021 बाद दोपहर 3:00 बजे को रखे गए थे। जब हम आठों काउंसलर बैरिकेड के पास पहुंचे, तब वहां पर मौजूद डीएसपी तपा बलजीत बराड़ हमारे एक काउंसलर विनोद कुमार काला जो वार्ड नंबर-2 से विजयी है, को बिना कोई कारण बताए जबरदस्ती उठाकर ले गया। हम उससे इसका कारण पूछने लगे कि उन्हें किस वजह से पकड़ा गया है। लेकिन डीएसपी ने कुछ नहीं बताया। जिस कारण हम उस दिन अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव की मीटिंग में हिस्सा नहीं ले सके।

उसके बाद जब हम थाना पता करने गए तो थाने के गेट बंद कर दिए गए। फिर मजबूरन हमें वहां पर धरना देना पड़ा। देर रात करीब 11:00 बजे हमें पुलिस ने बताया गया कि हमने विनोद कुमार काला को पकड़ लिया है। यह बात हमें डीएसपी बृजमोहन बरनाला ने बताई। हमें सुबह पता चला कि डीएसपी ने यह धक्का सिर्फ इसलिए किया है कि काउंसिल में कांग्रेस का प्रधान और उपप्रधान बनाया जा सके।

पुराने मामले में उठाया काउंसलर को

तरलोचन बंसल व अन्य काउंसलरों ने बताया कि बड़ी ही हैरानी वाली बात यह है कि विनोद कुमार काला की गिरफ्तारी उस मामले में डाल दी गई, जिसमें वह पहले ही गिरफ्तार हो चुका था। यह मामला 29 मार्च 2021 का है, 29 मार्च को गिरफ्तार करने के बाद 30 मार्च को उसे रिहा कर दिया गया। काउंसलरों ने कहा कि डीएसपी की ओर से उन सब को धमकियां दी जा रही है ,उन्होंने कहा कि सत्तापक्ष के इशारे पर पुलिस उनके साथ धक्का कर रही है। काउंसलरों ने कहा कि तपा मंडी में कांग्रेस की ओर से जो जबरदस्ती हो रही है उस पर कोई अधिकारी कोई एक्शन नहीं ले रहा है इसी कारण उन्हें चंडीगढ़ में आकर अपनी बात को प्रेस के सामने रखना पड़ा।