• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • In Punjab, There Is A Ruckus In The AAP On The CM Face, In Mohali, Kejriwal Is Furious When The Slogans Of Bhagwant Mann Are Raised; Said Leave The Affair Of CM Minister Or Else Go

पंजाब में CM चेहरे पर AAP में घमासान:मोहाली में भगवंत मान के हक में नारे लगने पर भड़के केजरीवाल; कहा- सीएम-मंत्री का चक्कर छोड़ो वरना पार्टी से जाओ

चंडीगढ़7 महीने पहलेलेखक: मनीष शर्मा
  • कॉपी लिंक

पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) के अंदर CM चेहरे को लेकर घमासान मच गया है। शनिवार को AAP के नेशनल कन्वीनर और दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने मोहाली में पार्टी वर्करों की मीटिंग ली जिसके अंदर इस मुद्दे पर बवाल हो गया। वर्करों ने सीधे तौर पर पंजाब में किसी बाहरी शख्स को CM चेहरा बनाने के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

मीटिंग में जब केजरीवाल बोलने खड़े हुए तो ‘भगवंत मान-जिंदाबाद’ के नारे लगने लगे। इससे खफा नजर आए केजरीवाल ने दो-टूक कहा कि उनका मकसद पंजाब को सुधारना है। MLA की टिकट, CM या मंत्री बनने का चक्कर छोड़ देना चाहिए और अगर किसी को पार्टी गलत लगती है तो वह AAP छोड़ दे।

मोहाली में शनिवार को आम आदमी पार्टी की वर्कर मीटिंग में भगवंत मान के हक में नारेबाजी सुनकर अरविंद केजरीवाल कुछ पलों के लिए चुप हो गए।
मोहाली में शनिवार को आम आदमी पार्टी की वर्कर मीटिंग में भगवंत मान के हक में नारेबाजी सुनकर अरविंद केजरीवाल कुछ पलों के लिए चुप हो गए।

ऐसे शुरू हुआ बवाल
मोहाली में वर्करों की मीटिंग में जब MLA अमन अरोड़ा ने अरविंद केजरीवाल को संबोधन के लिए बुलाया तो उसी समय एक बुजुर्ग ने माइक थाम लिया। बुजुर्ग का कहना था कि पिछली बार (वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव) भी हमें नुकसान हुआ। इसलिए इस बार किसी पंजाबी को CM चेहरा बनाएं। उसमें भगवंत मान, अमन अरोड़ा, हरपाल चीमा या कोई और हो सकता है।

इसके बाद एक युवक खड़ा होकर बोला कि वह 20 हजार रुपए महीना कमाता है लेकिन 2 लाख रुपए आम आदमी पार्टी पर खर्च कर दिए। इसके बावजूद किसी ने उसकी सुध नहीं ली।

केजरीवाल बोलने उठे तो लगने लगे नारे, मान ने चुप करवाया

अपने संबोधन की शुरुआत में केजरीवाल ने कहा, ‘दो प्रश्न उठे हैं। पहला यह कि पार्टी का चेहरा पंजाब से होना चाहिए, बाहर से नहीं। तो मैं वादा करता हूं कि AAP का CM चेहरा पंजाब का ही होगा।’

केजरीवाल के इतना कहते ही हॉल में ‘भगवंत मान जिंदाबाद’ के नारे लगने लगे। इसे सुनकर कुछ पल के लिए केजरीवाल चुप हो गए। उसी समय अपने नाम के नारे लगते देखकर भगवंत मान ने माइक पकड़ा और कहा, ‘अरविंद केजरीवाल हमारे नेशनल कन्वीनर हैं। वह बहुत दूर से आए हैं। वह कोई अनाउंसमेंट करने वाले हैं। उन्हें ध्यान से सुन लो। अगर आप पंजाब और पार्टी को प्यार करते हो तो सुन लो।’

भगवंत मान के इतना कहने पर नारेबाजी कर रहे लोग चुप हुए।

मोहाली में शनिवार को आम आदमी पार्टी की वर्कर मीटिंग में एक बुजुर्ग ने अरविंद केजरीवाल के सामने इस बार किसी बाहरी को पंजाब का CM चेहरा न बनाने की मांग की।
मोहाली में शनिवार को आम आदमी पार्टी की वर्कर मीटिंग में एक बुजुर्ग ने अरविंद केजरीवाल के सामने इस बार किसी बाहरी को पंजाब का CM चेहरा न बनाने की मांग की।

CM चेहरे और टिकट की मांग पर सुनाई दो-टूक

इसके बाद केजरीवाल ने कहा, ‘कुछ लोग कह रहे हैं कि एक आदमी को टिकट दे दो। CM चेहरा बना दो। मैं पूछता हूं कि हमें पंजाब सुधारना है या किसी को मंत्री या MLA बनाना है? हम पंजाब सुधारने आए हैं या किसी को कुछ बनाने आए हैं? आम आदमी पार्टी में खुद कुछ बनने या किसी के लिए टिकट, मंत्री, MLA बनाने नहीं आते।’

केजरीवाल बोले- दिल्ली में पार्टी का काम देख लोग AAP को समर्थन दे रहे

केजरीवाल ने कहा कि आज पंजाब के लोग आम आदमी पार्टी की तरफ इसलिए नहीं देख रहे कि कौन मंत्री या कौन विधायक बनेगा। लोग सिर्फ यह देख रहे हैं कि दिल्ली में काम हुआ है तो यहां भी होगा। मुद्दे किसी एक की पूंछ पकड़ने से हल नहीं होंगे। मुद्दों के लिए लड़ो, न कि किसी पार्टी के लिए। अगर आम आदमी पार्टी गलत लगे तो उसे भी छोड़ दो। इसकी या उसकी टिकट के चक्कर में मत पड़ो।

शनिवार को आप की वर्कर मीटिंग में पंजाबियों की अनदेखी का आरोप लगाता युवक।
शनिवार को आप की वर्कर मीटिंग में पंजाबियों की अनदेखी का आरोप लगाता युवक।

पंजाब में AAP के CM चेहरे की कलह

दरअसल पंजाब में आम आदमी पार्टी के CM चेहरे को लेकर कलह मची है। संगरूर से पार्टी के लोकसभा सांसद भगवंत मान इस पद के लिए दावेदारी ठोक चुके हैं। इसे लेकर कई दिन नाराज भी रहे। उसके बाद बठिंडा रूरल की विधायक रूपिंदर रूबी ने कांग्रेस जॉइन करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी दिल्ली से कंट्रोल हो रही है। भगवंत मान ने इतनी मेहनत की लेकिन पार्टी उन्हें सीएम चेहरा घोषित नहीं कर रही। वर्करों में भी इस बात को लेकर नाराजगी है कि पिछली बार बाहरी को CM बनाए जाने का मुद्दा उठाकर उनका नुकसान हुआ।

खबरें और भी हैं...