पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • In The Investigation Of 234 Companies In The State, 89 Fakes Were Found, Input Tax Credit Of 303 Crores Taken

जीएसटी ब्रांच ने पकड़ा बोगस कंपनियों का बड़ा फर्जीवाड़ा:प्रदेश में 234 कंपनियों की जांच में 89 फर्जी मिलीं, 303 करोड़ का इनपुट टैक्स क्रेडिट लिया

चंडीगढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में फर्जी कंपनियों के सहारे इनपुट टैक्स क्रेडिट क्लेम में 325.49 करोड़ रुपए का फर्जीवाड़ा सामने आया है। एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट की जीएसटी ब्रांच ने पिछले माह जब रिकॉर्ड की जांच की तो 234 कंपनियां संदिग्ध लगीं। इसके बाद अधिकारियों ने 10 अगस्त से 25 अगस्त तक 225 कंपनियों के एड्रेस पर जाकर पड़ताल की। जो देखा आश्चर्यजनक था। पूरी रिपोर्ट तैयार होने के बाद सामने आया कि 39.55 प्रतिशत कंपनियां फर्जी हैं।

कंपनियों के दर्शाए गए एड्रेस पर कहीं खाली प्लाॅट मिला तो कहीं पार्क व छोटी दुकानें मिलीं। जबकि, इन कंपनियों के नाम पर 303.63 करोड़ रुपए का क्रेडिट क्लेम भी पास करा लिया। तत्काल कार्रवाई करते हुए विभाग ने कुछ कंपनियों का 21.86 करोड़ रुपए ब्लॉक कर दिया है। 35.52 करोड़ रुपए 1 सितंबर तक रिकवर किए जा चुके हैं।

सबसे ज्यादा फरीदाबाद में 41 तो गुड़गांव में 38 कंपनियों की जांच की गई थी। उनमें फरीदाबाद में जांच की गई कंपनियों में 66 तो गुड़गांव 57 प्रतिशत कंपनियां फर्जी मिली हैं। अब महकमे के अधिकारियों के लिए 303.63 करोड़ रुपए की रिकवरी करना बड़ी चुनौती होगा।

बिना सेल-पर्चेज किए दिखा रहे गलत बिलिंग
जालसाज बड़े पैमाने पर फर्जी टैक्स इनवॉइस तैयार करते हैं। इसके बाद इनपुट टैक्स क्रेडिट क्लेम करते हैं। द इलिट टैक्स के संचालक एडवोकेट अश्वनी कुमार बताते हैं कि कुछ लोग सिर्फ कागजों में कंपनियां बनाते हैं। इसके बाद इनके नाम से फर्जी बिल तैयार करते हुए इनसे सामान की खरीद दिखाते हैं और कागजों में ही आगे बिक्री दिखा दी जाती है। फर्जी कंपनियों को जीएसटी के तहत पंजीकृत भी करा लिया जाता है। फिर कंपनियों के नाम पर व्यापार दिखा कर टैक्स इनवॉइस तैयार करते हैं। जिसे सरकार से रिफंड करा लेते हैं।

इन जिलों में नहीं मिली कोई फेक कंपनी
प्रदेश के चार जिलों 20 संदिग्ध कंपनियों में कोई फर्जी नहीं मिली। विभाग ने कुरुक्षेत्र व फतेहाबाद में 4-4, रोहतक में 5 और पलवल में 7 कंपनियों की जांच की थी।

खबरें और भी हैं...