पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • In View Of Bakrid Festival, CRPF Personnel Including 300 Policemen Deployed In Every Corner Of The City, Ready To Deal With Every Situation

बकरीद पर सुरक्षा के घेरे में चंडीगढ़:चप्पे-चप्पे पर कुल पुलिसकर्मियों समेत CRPF के जवान तैनात, सुबह साढ़े 7 बजे मस्जिदों मे अता की गई नमाज

चंडीगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क पर वाहन चालकों के चालान काटती ट्रैफिक पुलिस। - Dainik Bhaskar
सड़क पर वाहन चालकों के चालान काटती ट्रैफिक पुलिस।

यूटी पुलिस विभाग ने बकरीद त्योहार को देखते हुए शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर रखी है। पुलिस हर परिस्थिति से निपटने को तैयार है। शहर की मुख्य मस्जिदों के आसपास व बाजारों में कुल 300 पुलिसकर्मियों सहित सीआरपीएफ के जवान तैनात किए गए हैं।

मंगलवार देर शाम को ड्यूटी निर्धारित होने के बाद सुबह ऑन ड्यूटी होकर पुलिस जवानों ने आला अधिकारियों को रिपोर्ट की। इसके बाद तीनों डिवीजन के डीएसपी के सुपरविजन में सभी थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी, ट्रैफिक पुलिस सहित पीसीआर की पेट्रोलिंग बढ़ाई गई।

हालांकि अभी तक शहर की शांति व्यवस्था को भंग करने को लेकर कोई सूचना नहीं मिली है। हालात पहले की तरह सामान्य हैं। सेक्टर-20 स्थित जामा मस्जिद, सेक्टर-45 जामा मस्जिद, हाउसिंग बोर्ड मनीमाजरा, सेक्टर-26 स्थित नूरानी मस्जिद पर डीएसपी की पेट्रोलिंग होगी।

मस्जिद में नमाज पढ़ते हुए मुस्लिम समुदाय के लोग
मस्जिद में नमाज पढ़ते हुए मुस्लिम समुदाय के लोग

थाना प्रभारी के सुपरविजन में नाकाबंदी करके वाहनों की चेकिंग की जा रही। ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ट्रैफिक पुलिस चालान की कार्रवाई कर रही है। ओवरस्पीड, बिना हेलमेट ड्राइविंग सहित दूसरे नियमों को तोड़ने पर चालान और वाहन जब्त किए जा सकते हैं।

SSP कुलदीप सिंह चहल ने बुधवार की सुबह ही सुरक्षा व्यवस्था का जायजा खुद सड़कों पर उतर कर लिया। दूसरी ओर, कोरोना महामारी के नियमों को ध्यान में रखते हुए शहर में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बकरीद का त्योहार धूमधाम से मनाया।

शहर की सभी मस्जिदों में सुबह साढ़े 7 बजे तक नमाज अता की गई। कोरोना महामारी के चलते मुस्लिम समुदाय ने एक दिन पहले ही घोषणा कर दी थी कि मस्जिदों में नमाज 7 सात बजे तक होगी। उसके बाद मस्जिदों में किसी की भी एंट्री नहीं होगी।

नमाज अता करने वालों के पास मास्क और खुद की चादर जरूरी होनी चाहिए, ताकि वह सुरक्षित तरीके से नमाज अता कर सकें।

खबरें और भी हैं...