गुरदासपुर के गांव से मिस यूनिवर्स तक का सफर:1400 की आबादी वाले पिंड की हरनाज महज 50 दिन की थीं जब लारा ने पहना था ताज

चंडीगढ़एक महीने पहलेलेखक: प्रियंक द्विवेदी
हरनाज कौर चंडीगढ़ से ग्रेजुएशन करने के बाद इन दिनों मास्टर्स की पढ़ाई पूरी कर रही हैं।

मिस यूनिवर्स 2021 हरनाज कौर संधू आज दुनिया के लिए वो नाम बन गई हैं, जो इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। पंजाब में गुरदासपुर जिले के छोटे से गांव, कोहाली में जन्मी हरनाज कौर का मिस यूनिवर्स के क्राउन तक का सफर बेहद खास और प्रेरणा से ओतप्रोत रहा है।

भारत को इससे पहले अंतिम बार मिस यूनिवर्स का खिताब 12 मई 2000 को मिला था। तब भारत की लारा दत्ता विश्व सुंदरी बनी थीं। उस समय हरनाज कौर महज 50 दिन की थीं। अब 21 साल बाद, 21 साल की हरनाज संधू ने फिर से भारत को यह ताज दिलवाया है।

हरनाज कौर गुरदासपुर जिले के जिस कोहाली गांव में पैदा हुईं, उसकी आबादी सिर्फ 1393 है। इतने छोटे से गांव से निकलकर पूरी दुनिया पर छा जाना अपने आप में एक खास अहसास है, जिसे सिर्फ हरनाज ही महसूस कर सकती हैं।

2017 में कॉलेज में एक शो के दौरान उन्होंने पहली स्टेज परफॉर्मेंस दी। उसके बाद ही मिस यूनिवर्स तक पहुंचने का सफर शुरू हो गया था।
2017 में कॉलेज में एक शो के दौरान उन्होंने पहली स्टेज परफॉर्मेंस दी। उसके बाद ही मिस यूनिवर्स तक पहुंचने का सफर शुरू हो गया था।

मिस इंडिया 2019 के फिनाले तक पहुंची

हरनाज कौर संधू मिस इंडिया 2019 के फिनाले तक पहुंची थीं और अब उन्होंने मिस यूनिवर्स का 70वां क्राउन जीता। वे मिस यूनिवर्स-2021 बनी हैं। 21 साल की हरलीन कौर ने 21 साल बाद भारत को क्राउन दिलाया है। इससे पहले, साल 1994 में सुष्मिता सेन और 2000 में लारा दत्ता ने यह खिताब जीता था। ऐसे में भारत ने तीसरी बार क्राउन जीता। मिस यूनिवर्स 2021 का फिनाले 12 दिसंबर को इजराइल में हुआ। बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्वशी रौतेला भी कॉन्टेस्ट के जज पैनल में शामिल रहीं।

हरनाज का मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए, लेकिन वर्कआउट नहीं छोड़ना चाहिए। वे अपनी पसंद की हर चीज खाती हैं।
हरनाज का मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए, लेकिन वर्कआउट नहीं छोड़ना चाहिए। वे अपनी पसंद की हर चीज खाती हैं।

फिल्मों में काम कर चुकी हरनाज

हरनाज कौर ने बतौर मॉडल करियर की शुरुआत की थी। वे पढ़ाई करने के साथ-साथ एक्टिंग भी करती हैं। वे कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं। ‘यारा दियां पू बारां’ और ‘बाई जी कुट्टांगे’ फिल्मों में उन्हें देखा जा सकता है। हालांकि, वे जज बनना चाहती हैं और अभी पढ़ाई जारी है।

स्कूल में हरनाज के दुबलेपन का मजाक भी बनाया जाता था। इस वजह से कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन में रहीं, लेकिन परिवार ने हमेशा उन्हें सपोर्ट किया।
स्कूल में हरनाज के दुबलेपन का मजाक भी बनाया जाता था। इस वजह से कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन में रहीं, लेकिन परिवार ने हमेशा उन्हें सपोर्ट किया।

कई खिताब जीत चुकी हरनाज

मिस यूनिवर्स बनने से पहले हरनाज कई खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। हरनाज ने साल 2017 में टाइम्स फ्रेश फेस मिस चंडीगढ़, साल 2018 में मिस मैक्स इमर्जिंग स्टार, साल 2019 में फेमिना मिस इंडिया पंजाब जीता और अब साल 2021 में मिस यूनिवर्स इंडिया का टाइटल जीतकर परिवार और देश का सम्मान बढ़ाया है। हाल ही में कॉलेज के सालाना पुरस्कार वितरण समारोह में हरनाज को दीवा ऑफ कॉलेज अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

हरनाज को भारतीय परिधान पहनना, घुड़सवारी, तैराकी, एक्टिंग, डांसिंग और घूमने का बेहद शौक है। वे फ्री होती हैं तो इन्हीं शौक को पूरा करती हैं।
हरनाज को भारतीय परिधान पहनना, घुड़सवारी, तैराकी, एक्टिंग, डांसिंग और घूमने का बेहद शौक है। वे फ्री होती हैं तो इन्हीं शौक को पूरा करती हैं।

ऐसे की मिस यूनिवर्स की तैयारी

पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स कर रही हरनाज संधू ने बताया कि वह योगा और मेडिटेशन बहुत करती हैं। उनके मिस यूनिवर्स बनने में भी इन दोनों का बड़ा रोल रहा। मेंटल हेल्थ के बारे सजग रहकर ही वह इस मुकाम तक पहुंच पाईं।

हरनाज ने 79 देशों की सुंदरियों को पीछे छोड़ते हुए मिस यूनिवर्स का ताज पहना। मिस यूनिवर्स की रनर अप मिस पराग्वे नाडिया फेरेरा और सेकेंड रनर अप मिस साउथ अफ्रीका लालेला मस्वाने रहीं।
हरनाज ने 79 देशों की सुंदरियों को पीछे छोड़ते हुए मिस यूनिवर्स का ताज पहना। मिस यूनिवर्स की रनर अप मिस पराग्वे नाडिया फेरेरा और सेकेंड रनर अप मिस साउथ अफ्रीका लालेला मस्वाने रहीं।

किसानों के मुद्दे पर बोल चुकी हरनाज

हरनाज खुद बेशक चंडीगढ़ से रहती हों, मगर उनका परिवार खेती-बाड़ी से जुड़ा रहा है। देश में चल रहे किसानों के मसले पर पिछली बार चंडीगढ़ आई हरनाज ने कहा था कि अगर सरकार और किसान बात करके इस मसले को सुलझा लेते हैं तो यह सबसे बेहतर विकल्प होगा।

खबरें और भी हैं...