• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • ITI Diploma Holder's Demand To Prepare Merit Again From HSSC Chairman, Selected Candidates Filled Options,

816 आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षकों की भर्ती:पंचकूला में शुरू हुई कागजातों की जांच; कुछ को सताया नौकरी का खतरा, दोबारा मेरिट लिस्ट की मांग

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचकूला में HSSC कार्यालय के बाहर जमा आईटीआई डिप्लोमा होल्डर। - Dainik Bhaskar
पंचकूला में HSSC कार्यालय के बाहर जमा आईटीआई डिप्लोमा होल्डर।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 816 आर्ट एंड क्राफ्ट भर्ती में चयनित कुछ अभ्यार्थियों की नौकरी पर संकट के बादल छा गए है। गुरुवार को पंचकूला में सेक्टर-7 के सरकारी स्कूल में चयनित अभ्यार्थी अपने कागजात वेरीफिकेशन करवाने पहुंचे। यह अभ्यार्थी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ डबल बेंच में याचिका दायर करने पर विचार कर रहे हैं। दूसरी ओर आईटीआई से कोर्स कर चुके उम्मीदवार भी हरियाणा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (HSSC) कार्यालय में पहुंचे और मेरिट में शामिल करने की मांग की।

हरियाणा के सोनीपत से आए आईटीआई डिप्लोमा होल्डर मनोज राठी ने 50 साथी उम्मीदवारों के साथ HSSC चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी को एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बताया कि सभी ने उस समय लिखित परीक्षा पास की थी। अब दोबारा से मेरिट तैयार की जाएगी। जिसमें आईटीआई से आर्ट एंड क्राफ्ट का कोर्स करने वालों को शामिल किया जाएगा। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से कोर्सपोंडंस डिग्री करने वाले आर्ट एंड क्राफ्ट उम्मीदवारों के कारण वे नौकरी से वंचित रह गए थे।

उन्होंने चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी से मेरिट लिस्ट पुन: तैयार करने की मांग की। ताकि सबका नाम आ सके। आईटीआई के करीब 500 डिप्लोमा होल्डर है। 816 चयनित में केयूके से रेगुलर कोर्स करने वाले बहुत कम उम्मीदवार हैं। सभी कैटागरी को दोबारा तैयार किया जाएगा। इससे लो मेरिट आने वाले आईटीआई होल्डर भी नौकरी प्राप्त कर सकेंगे।

सभी 816 से मांगे गए स्टेशन

शिक्षा विभाग ने 816 उम्मीदवारों को गुरुवार को पंचकूला बुलाकर उनसे स्टेशन अलॉट के लिए आवेदन मांगे हैं। हालांकि गुरुवार को उनकी बायोमेट्रिक नहीं हो पाई। आवेदन जमा करवाने आए सचिन ने बताया कि उन्होंने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से आर्ट एंड क्राफ्ट में कोर्सपोंडेस डिग्री की है। इस फैसले से उनकी नौकरी पर संकट आ गया है।

नियमों में बदलाव
कांग्रेस सरकार में 2006 में 816 पदों के लिए आर्ट एंड क्राफ्ट टीचर की भर्ती निकाली थी। इस भर्ती के लिए लिखित परीक्षा और इंटरव्यू मानक बनाए गए थे। परंतु 30 जून 2008 को लिखित परीक्षा रद्द कर दी गई थी। चयन इंटरव्यू के आधार पर हुआ। साथ ही इस भर्ती में दसवीं पास आर्ट एंड क्राफ़्ट का दो साल का डिप्लोमा निर्धारत किया था।

कुरुक्षेत्र विश्विवद्यालय से कोर्सपोंडंस का डिप्लोमा मान्य किया गया तो रेगुलर वाले कुछ अभ्यार्थी हाइकोर्ट चले गए। साथ ही भर्ती के नियमों को बदलने की चुनौती दी गई। दोनों मामले सुप्रीम कोर्ट चले गए। नियमों के बदलाव के कारण पिछले साल पूरी भर्ती ही रद्द कर दी। इसके बाद सरकार ने हरियाणा स्टॉफ सिलेक्शन के जरिए इसी साल 31 जनवरी को परीक्षा करवाकर प्रकिया पूर्ण की।

आईटीआई के लो-मेरिट अभ्यार्थी को भी होगा फायदा
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी का कहना है कि एलीमेंटरी शिक्षा विभाग आवेदन और दस्तावेजों की जांच करेगा। अभी सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की कॉपी नहीं आई है। कोर्ट के फैसले से आईटीआई डिप्लोमा होल्डर के लो मेरिट आवेदकों को भी लाभ मिल सकता है।

खबरें और भी हैं...