पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सेक्टर 37 कोठी हथियाने का मामला:शराब कारोबारी अरविंद सिंगला की अग्रिम जमानत याचिका खारिज;हाईकोर्ट ने कहा- प्रॉपर्टी में निवेश देश के विकास के लिए नहीं था, हिरासत में पूछताछ जरूरी

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिंगला पर 2 मार्च को FIR दर्ज हुई थी। वह तभी से फरार है। आरोप है कि उसने अन्य आरोपियों साथ मिलकर धोखे से राहुल मेहता की कोठी की GPA अपने नाम करवाकर प्रॉपर्टी किसी और को बेच दी। - Dainik Bhaskar
सिंगला पर 2 मार्च को FIR दर्ज हुई थी। वह तभी से फरार है। आरोप है कि उसने अन्य आरोपियों साथ मिलकर धोखे से राहुल मेहता की कोठी की GPA अपने नाम करवाकर प्रॉपर्टी किसी और को बेच दी।
  • प्रॉपर्टी डीलर के कहने पर ईमानदारी से निवेश की दलील स्वीकार नहीं

सेक्टर 37 के चर्चित कोठी विवाद में फरार चल रहे शराब कारोबारी अरविंद सिंगला और एक अन्य आरोपी सौरभ गुप्ता की अग्रिम जमानत याचिका पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दी। जस्टिस अनूपिंदर सिंह ग्रेवाल ने अग्रिम जमानत दिए जाने की मांग खारिज करते हुए कहा कि सिंगला ने प्रॉपर्टी में निवेश देश के विकास अथवा रोजगार के लिए नहीं किया था बल्कि यह खुद लाभ कमाने के लिए था।

ऐसे में प्रॉपर्टी डीलर के कहने पर ईमानदारी से निवेश की दलील को स्वीकार नहीं किया जा सकता। जाली दस्तावेज तैयार कर प्रॉपर्टी ट्रांसफर की गई। इसके लिए एक करोड़ रुपए से ज्यादा लेने का आरोप है। ऐसे में हिरासत में पूछताछ जरूरी है लिहाजा अग्रिम जमानत का लाभ नहीं दिया जा सकता।

2 मार्च को हुई FIR, तभी से फरार है सिंगला

सिंगला पर 2 मार्च को FIR दर्ज हुई थी। वह तभी से फरार है। आरोप है कि उसने अन्य आरोपियों साथ मिलकर धोखे से राहुल मेहता की कोठी की GPA अपने नाम करवाकर प्रॉपर्टी किसी और को बेच दी। पुलिस ने सेक्टर-37 की कोठी हड़पने के मामले में सबसे पहले मनीष गुप्ता को गिरफ्तार किया था जिसके बाद संजीव महाजन,DSP रामगोपाल के भाई सतपाल डागर और फिर सेक्टर-39 थाने के पूर्व SHO इंस्पेक्टर राजदीप सिंह को गिरफ्तार किया। सिंगला, शेखर, दलजीत सिंह, सौरभ गुप्ता, खलेंद्र सिंह कादियान और अशोक अरोड़ा फरार चल रहे हैं।