मनोज लुबाना बने चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस के प्रधान:ऑनलाइन वोटिंग से हुआ चयन;पिछले कई महीनों से पद को लेकर बना हुआ था रहस्य,परीक्षित राणा को दी गई उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधान चुने जाने के बाद मनोज लुबाना ने कहा कि "चंडीगढ़ के खराब प्रशासन के कारण लोग दुखी हो चुके हैं और  भाजपा को ये दिखाने का समय है कि लोग अब इस तानाशाही सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे।" - Dainik Bhaskar
प्रधान चुने जाने के बाद मनोज लुबाना ने कहा कि "चंडीगढ़ के खराब प्रशासन के कारण लोग दुखी हो चुके हैं और  भाजपा को ये दिखाने का समय है कि लोग अब इस तानाशाही सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे।"

मनोज लुबाणा को चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस का नया अध्यक्ष घोषित कर दिया गया है जबकि परीक्षित राणा को उपाध्यक्ष बनाया गया है। यूथ कांग्रेस में अध्यक्ष पद की दौड़ में मनोज लुबाणा के साथ पूर्व अध्यक्ष लव कुमार भी थे। लेकिन लव कुमार को प्रदेश कार्यकारिणी में महासचिव बना दिया गया है। पिछले कई महीनों से यूथ कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर रहस्य बना हुआ था। हालांकि ऑनलाइन वोटिंग भी करवाई गई थी जिसमें मनोज लुबाणा ही सबसे आगे रहे थे।

मनोज लुबाणा चंडीगढ़ की छात्र राजनीति में जाना-माना नाम है। वे कई साल तक पंजाब यूनिवर्सिटी की राजनीति मेें भी सक्रीय रहे हैं। उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत चंडीगढ़ के खालसा कॉलेज से की थी। वे किशनगढ से जिला परिषद सदस्य रह चुके हैं। वह 2011 में स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी(सोपू) में शामिल हुए और 2012 में सोपू के अध्यक्ष बने।

इसके बाद वे 2013 में नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडियन में शामिल हुए। उन्होंने संगठन को कई चुनाव भी जितवाएं हैं। उन्हें एनएसयूआई के नेशनल कॉर्डिनेटर और हरियाणा युवा कांग्रेस के सचिव के रूप में भी नियुक्त किया गया था। प्रधान चुने जाने के बाद उन्होंने कहा कि "चंडीगढ़ के खराब प्रशासन के कारण लोग दुखी हो चुके हैं और भाजपा को ये दिखाने का समय है कि लोग अब इस तानाशाही सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे।"

खबरें और भी हैं...