पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Members Of Shiv Sena (Bal Thackeray) Will Gherao The Chandigarh Municipal Corporation On September 16 For Their Demands.

चंडीगढ़ निगम की सभी सीटों पर कैंडिडेट उतारेगी शिवसेना:16 सितंबर को चंडीगढ़ नगर निगम का घेराव करेगी पार्टी, कहा- भाजपा नेता लोगों को कर रहे परेशान

चंडीगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिव सेना बाल ठाकरे के सदस्यों ने कहा कि 16 सितंबर को वे  नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करेंगे। - Dainik Bhaskar
शिव सेना बाल ठाकरे के सदस्यों ने कहा कि 16 सितंबर को वे नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करेंगे।

चंडीगढ़ की शिव सेना (बाल ठाकरे) के सदस्यों की ओर से मीडिया को बताया गया कि आने वाले नगर निगम चुनावों को लेकर पार्टी सारे 35 वार्ड में अपने प्रत्याशियों को उतारेंगी। शिव सेना के प्रदेश अध्यक्ष परमजीत सिंह राजपूत ने कहा कि भाजपा की नगर निगम की ओर से लोगों को परेशान किया जा रहा है और आने वाले चुनावों में शहर के लोग इसका हिसाब मांगेंगे।

उन्होंने कहा कि आगामी 16 सितंबर को नगर निगम के बाहर शिव सेना के सदस्यों की ओर से मांगों को लेकर रोष प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नगर निगम में जब बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई थी तो बड़े-बड़े वादे किए थे, लेकिन पार्टी अपने वादों पर खरी नहीं उतरी, बिजली और पानी की दरों में बेतहाशा वृद्धि से चंडीगढ़ वासी परेशान हैं व स्मार्ट सिटी के नाम पर गारबेज का बिल पानी के बिल में लग कर आने की वजह से यह परेशानी और ज्यादा बढ़ गई है।

शिवसेना की ओर से प्रशासन से मांग की है कि चंडीगढ़ नगर निगम में जब भी नौकरियां निकलती है तो 85 फीसदी चंडीगढ़ के युवाओं के लिए रिजर्वेशन होनी चाहिए ताकि चंडीगढ़ के युवा को शहर में ही नौकरी मिल पाए। इसी तरह सफाई कर्मचारियों की तनख्वाह हमेशा तीन-तीन महीने लेट मिलती है,उसे समय पर दिया जाए। लायंस कंपनी को जब से सफाई का ठेका मिला है तब से शहर की सफाई व्यवस्था चरमरा गई है आए दिन सफाई कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से शहरवासी परेशान होते हैं। उन्होंने कहा कि लायंस कंपनी का कॉन्ट्रैक्ट तुरंत प्रभाव से नगर निगम को कैंसिल कर देना चाहिए। इसी तरह रेहड़ी फड़ी वाले वेंडर की फीस कोरोना काल यानी लॉक डाउन से अब तक की फीस माफ कर देनी चाहिए। टाउन वेंडिंग कमेटी के दोबारा इलेक्शन करवाए जाने चाहिए व जिन नए वेंडर्स के लाइसेंस भाजपा के कार्यकाल में बने हैं उन्हें कैंसिल करवा कर पुराने वेंडर को अपनी पुरानी जगह पर बहाल कर देना चाहिए ।

खबरें और भी हैं...