हरनाज की 12 अनदेखी तस्वीरें:शांत स्वभाव और थियेटर की शौकीन, डिप्रेशन से निकलकर मिस यूनिवर्स बनीं, मन का खाती और पहनती हैं

चंडीगढ़एक महीने पहले

मिस यूनिवर्स 2021 का खिताब जीतने वाली हरनाज कौर संधू की फिलोसॉफी है कि हर आदमी अपने आप में अलग है और उसे किसी को कॉपी करने की जगह अपनी अलग पहचान बनानी चाहिए। हरनाज का कहना है कि वह आज भी आम इंसान की तरह ही हैं। उनमें कोई बदलाव नहीं आया। वह वैसे ही सोचती हैं, जैसे सब सोचती हैं। सबसे जरूरी है कि ऑथेंटिक रहें। बाकी सब लोग भी उन जैसे हैं और वह उनके जैसी। हां जिम्मेदारी जरूर बढ़ी है।

हरनाज कहती हैं कि अगर आप उदास हैं तो उदास रहिए। आप तूफान आते वक्त भी खुश रह सकते हैं। जरूरत है तो बस नजरिया बदलने की। सबकी जिंदगी में मुश्किलें हैं। वे जिस भी इंसान से मिलती हैं, उन सबसे सीखती हैं। आप बस महसूस कीजिए कि आप परफेक्ट हैं। देखिए हरनाज कौर संधू की कुछ अनदेखी तस्वीरें...

गुरदासपुर के गांव से मिस यूनिवर्स तक का सफर:1400 की आबादी वाले गांव में जन्मी हरनाज बनना चाहती हैं जज; मां गायनेकोलॉजिस्ट, खेती से जुड़ा परिवार

एक छोटे से गांव से निकलकर पूरी दुनिया में अपना नाम चमकाना अपने आप में एक खास अहसास है, जिसे सिर्फ हरनाज ही महसूस कर सकती हैं।
एक छोटे से गांव से निकलकर पूरी दुनिया में अपना नाम चमकाना अपने आप में एक खास अहसास है, जिसे सिर्फ हरनाज ही महसूस कर सकती हैं।

हरनाज कौर की मां की आंखें छलकीं:बोलीं- शांत रहती है, पर दुनिया हिला दी; भाई हरनूर कहते हैं- 7 साल छोटी बहन, बड़ी हो गई

17 साल की उम्र तक हरनाज काफी इंट्रोवर्ट हुआ करती थीं। स्कूल में उनके दुबलेपन का मजाक भी बनाया जाता था। इस वजह से कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन में रहीं।
17 साल की उम्र तक हरनाज काफी इंट्रोवर्ट हुआ करती थीं। स्कूल में उनके दुबलेपन का मजाक भी बनाया जाता था। इस वजह से कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन में रहीं।

पिता की नजरों में हरनाज भारत की शेरनी:मंच पर जाने से पहले किया गुरुओं को याद, ताज मिलने पर दुनिया से कहा- सत श्री अकाल

हरनाज की थिएटर में काफी दिलचस्पी है। बेहद शांत स्वभाव की हरनाज संधू ने स्कूल से कॉलेज तक कभी कोचिंग नहीं ली।
हरनाज की थिएटर में काफी दिलचस्पी है। बेहद शांत स्वभाव की हरनाज संधू ने स्कूल से कॉलेज तक कभी कोचिंग नहीं ली।
2017 में कॉलेज में एक शो के दौरान उन्होंने पहली स्टेज परफॉर्मेंस दी। उसके बाद ही मिस यूनिवर्स तक पहुंचने का सफर शुरू हो गया था।
2017 में कॉलेज में एक शो के दौरान उन्होंने पहली स्टेज परफॉर्मेंस दी। उसके बाद ही मिस यूनिवर्स तक पहुंचने का सफर शुरू हो गया था।
हरनाज का मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए, लेकिन वर्कआउट नहीं छोड़ना चाहिए। वे अपनी पसंद की हर चीज खाती हैं।
हरनाज का मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए, लेकिन वर्कआउट नहीं छोड़ना चाहिए। वे अपनी पसंद की हर चीज खाती हैं।
हरनाज ने बतौर मॉडल अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने फिल्मों में भी काम किया है।
हरनाज ने बतौर मॉडल अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने फिल्मों में भी काम किया है।
हरनाज ने साल 2017 में टाइम्स फ्रेश फेस मिस चंडीगढ़, साल 2018 में मिस मैक्स इमर्जिंग स्टार, साल 2019 में फेमिना मिस इंडिया पंजाब जीता।
हरनाज ने साल 2017 में टाइम्स फ्रेश फेस मिस चंडीगढ़, साल 2018 में मिस मैक्स इमर्जिंग स्टार, साल 2019 में फेमिना मिस इंडिया पंजाब जीता।
हरनाज को कॉलेज के सालाना पुरस्कार वितरण समारोह में दीवा ऑफ कॉलेज अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।
हरनाज को कॉलेज के सालाना पुरस्कार वितरण समारोह में दीवा ऑफ कॉलेज अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।
उनको पशुओं से खास लगाव है। भारतीय परिधान पहनना, घुड़सवारी, तैराकी, एक्टिंग, डांसिंग और घूमने का बेहद शौक है। वे फ्री होती हैं तो यही शौक पूरे करती हैं।
उनको पशुओं से खास लगाव है। भारतीय परिधान पहनना, घुड़सवारी, तैराकी, एक्टिंग, डांसिंग और घूमने का बेहद शौक है। वे फ्री होती हैं तो यही शौक पूरे करती हैं।
हरनाज संधू मिस इंडिया 2019 के फिनाले तक पहुंची थीं और अब उन्होंने मिस यूनिवर्स का 70वां क्राउन जीता है। वे मिस यूनिवर्स 2021 बनी हैं।
हरनाज संधू मिस इंडिया 2019 के फिनाले तक पहुंची थीं और अब उन्होंने मिस यूनिवर्स का 70वां क्राउन जीता है। वे मिस यूनिवर्स 2021 बनी हैं।
हरनाज पढ़ाई करने के साथ-साथ एक्टिंग भी करती हैं। वे कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं। ‘यारा दियां पू बारां’ और ‘बाई जी कुट्टांगे’ फिल्मों में उन्हें देखा जा सकता है।
हरनाज पढ़ाई करने के साथ-साथ एक्टिंग भी करती हैं। वे कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं। ‘यारा दियां पू बारां’ और ‘बाई जी कुट्टांगे’ फिल्मों में उन्हें देखा जा सकता है।