पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Mobile Shops Opened In The Market Of Sector 22 In The City, Due To Which Dozens Of Cars Were Parked In The Parking Lot.

प्रशासन ने की थी सख्ती:शहर के सेक्टर-22 की मार्केट में मोबाइल दुकानें खुली, दर्जनों की संख्या में पार्किंग में लगी कारें

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़ पीजीआई डायरेक्टर ने कहा- अफवाहों पर ध्यान न दें और वैक्सीनेशन जरूर करवाए, जिससे बीमारी से बचाव होगा। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़ पीजीआई डायरेक्टर ने कहा- अफवाहों पर ध्यान न दें और वैक्सीनेशन जरूर करवाए, जिससे बीमारी से बचाव होगा।

प्रशासन की ओर से संक्रमण पर रोक लगाने के लिए गैर जरूरी दुकानों सहित कई स्थानों को बंद करने के निर्देश दिए गए थे और बिना किसी काम के लोगों को बाहर घूमने पर मनाही की गई थी, लेकिन अब फिर सड़कों पर वाहनों की संख्या काफी बढ़ रही है। शहर की सेक्टर-22 में मोबाइल की दुकानें खुलने के कारण आज दोपहर को काफी संख्या में वाहन सेक्टर-22 की मार्केट में खड़े दिखे। इस मार्केट में मोबाइल की मार्केट खुली होने के कारण लोगों का आना-जाना लगा हुआ है। कल इसी मार्केट में पुलिस ने बिना मास्क लोगों का चालान किया था। यहां की दुकानाें पर सोशल डिस्टेंसिंग न होने के कारण लोगों को यहां से भगाया भी था। आज फिर यहां लोगों का जमावड़ा लगा रहा।

सेक्टर-22 का एक हिस्सा जहां कुछ कारें दिखी।
सेक्टर-22 का एक हिस्सा जहां कुछ कारें दिखी।

आज शहर की सड़कों पर आते-जाते वाहन चालक को कोई पूछ भी नहीं रहा था। प्रशासन की ओर से लाेगों के सड़कों पर बिना वजह घूमने पर मनाही की गई है, लेकिन शहर की कई मार्केट्स में खड़े वाहनों को देख कर लगता है कि अब प्रशासन की सख्ती कम हो रही है।

पीजीआई डायरेक्टर ने कहा- वैक्सीन डोज जरूर लें

शहर के पीजीआई डायरेक्टर प्रो. जगतराम ने लोगों को कहा है कि वे बेहिचक वैक्सीन डोज लें, जिससे कोरोना संक्रमण से लड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि शहर के लोगों को संक्रमण से बचाव करने के लिए अब डबल मास्क लगाना जरूरी हो गया है। उनका कहना है कि अगर कोविड हो गया है तो उस समय तक अस्पताल न आए,और जब तक ऑक्सीजन की सैचुरेशन लेवल 94 तक न गिर जाए तब तक अस्पताल न आए। उनके अनुसार 95 से अधिक ऑक्सीजन सैचुरेशन और पैरासिटामॉल से कंट्रोल होने वाले बुखार के लिए अस्पताल आने की जरूरत नहीं है। बिना वजह अस्पतालों पर भार ना बढ़ाएं।

ऑक्सीजन सैचुरेशन ठीक है और दवा असर कर रही है तो आइसोलेशन ही हल है। उनके अनुसार मास्क जरूर पहनें और जब बाहर जाना बहुत जरूरी हो तभी बाहर जाएं और डबल मास्किंग करें। उन्होंने कहा कि शहर के लोगों को वैक्सीनेशन जरूर करवाना चाहिए और अफवाहों पर ध्यान ना दें। कई मामलों में दोनों डोज लगने के बाद भी इंफेक्शन हो रहा है, लेकिन वैक्सीनेशन के बाद तबीयत गंभीर रूप से खराब नहीं हो रही है, इसलिए वैक्सीनेशन जरूरी है।

खबरें और भी हैं...