चन्नी सरकार के बचाव में कूदे सिद्धू:कहा- जान को खतरा बताना PM का ड्रामा; खुद को अपमानित होने से बचाने का प्रयास

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़ में पत्रकारों से बात करते नवजोत सिद्धू। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़ में पत्रकारों से बात करते नवजोत सिद्धू।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक से घिरी पंजाब की चन्नी सरकार और पुलिस के बचाव में कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू कूदे हैं। उन्होंने कहा कि जान का खतरा बताना पीएम नरेंद्र मोदी का ड्रामा है। उनकी रैली में भीड़ इकट्‌ठी नहीं हुई तो वह अपमानित होने के लिए यह बात कह रहे हैं। 70 हजार कुर्सियां लगी थीं और आदमी सिर्फ 500 थे। ऐसा आज तक नहीं हुआ कि पीएम को ऐसी रैली को संबोधित करना पड़े। सिद्धू ने कहा कि पंजाब में न तो भाजपा की वोट है और न ही सपोर्ट। वह बैक डोर एंट्री करने की कोशिश कर रहे हैं।

पीएम मोदी का काफिला फिरोजपुर जिले में जाम में फंसा रहा
पीएम मोदी का काफिला फिरोजपुर जिले में जाम में फंसा रहा

जितने तिरंगे भाजपा ने फहराए, उससे ज्यादा पंजाब के सपूतों की लाश पर आते हैं

सिद्धू ने चंडीगढ़ में कहा कि नरेंद्र मोदी सिर्फ भाजपा के नहीं बल्कि सबके पीएम हैं। उनकी जान की कीमत इस देश का बच्चा-बच्चा जानता है। अब जान को खतरा बताकर पीएम पंजाब का अपमान कर रहे हैं। सिद्धू ने कहा कि जितने तिरंगे प्रधानमंत्री की पार्टी और संघ ने फहराए नहीं होंगे, उससे ज्यादा तिरंगे पंजाब के सपूतों की लाशों पर लपेटे जाते हैं।

पंजाब को बदनाम कर दूसरे राज्य में चुनाव लड़ने की योजना

सिद्धू ने कहा कि पंजाब में भाजपा का कोई आधार नहीं। उनका गुब्बारा फूट चुका है। ऐसे में पंजाब को बदनाम कर वह उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में चुनाव लड़ना चाहते हैं। सिद्धू ने कहा कि चुनाव से कुछ दिन पहले ही माहौल क्यों खराब किया जाता है?

किसानों को खालिस्तानी, आतंकी और मवाली कहा

सिद्धू ने कहा कि जब डेढ़ साल तक किसान दिल्ली बॉर्डर पर बैठे रहे तो उन्हें आतंकवादी, खालिस्तानी और मवाली कहा गया। उनमें भाजपा के प्रति गुस्सा है। किसानों की इन्कम दोगुनी करने की बात थी लेकिन जो उनके पास था, वह भी छीन लिया गया। सिद्धू ने कहा कि केंद्र ने किसानों को MSP की कानूनी गारंटी नहीं दी।

खबरें और भी हैं...