• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Monkeypox Threat In Chandigarh, Suspected Symptoms In A Convent School Child; School Issued Advisory

चंडीगढ़ में हैंड, फुट एंड माउथ बीमारी की एंट्री:2 प्राइवेट स्कूलों के बच्चों में लक्षण, नर्सरी से सेकंड तक की कक्षाएं 2 दिन बंद

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हैंड, फुट एंड माउथ बीमारी से पीड़ित एक बच्चा। (फाइल) - Dainik Bhaskar
हैंड, फुट एंड माउथ बीमारी से पीड़ित एक बच्चा। (फाइल)

चंडीगढ़ में सेंट कबीर पब्लिक स्कूल सेक्टर 26 के एक और दिल्ली पब्लिक स्कूल(डीपीएस), सेक्टर 40 के कुछ छोटे बच्चों में हैंड, फुट एंड माउथ की बीमारी पाई गई है। यह बीमारी ज्यादातर छोटे बच्चों को होती है। बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए सेंट कबीर पब्लिक स्कूल ने नर्सरी से सेकंड क्लास की कक्षाएं 28 जुलाई को बंद करने का फैसला लिया है। इसके साथ स्कूल ने एक एडवाइजरी जारी की है। वहीं दूसरी ओर चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से भी इस हाथ, पांव और मुंह की बीमारी को लेकर एक एडवाइजरी जारी की गई है।

वहीं डीपीएस स्कूल ने कहा है कि प्री-प्राइमरी विंग के कुछ बच्चों के अभिभावकों ने कहा है कि उनके बच्चों को हैंड, फुट एंड माउथ की बीमारी पाई गई है। ऐसे में बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए और एहतियात बरतते हुए नर्सरी, प्रेप 1 और 1 क्लास को 28 और 29 जुलाई के लिए ऑनलाइन कर दिया गया है। वहीं स्कूल में होने वाले थिएटर फेस्ट को भी रद्द कर दिया गया है। वहीं बच्चों की कक्षाओं में भी सैनिटाइजेशन की जा रही है।

यह एडवाइजरी की गई है जारी

डीपीएस स्कूल द्वारा बच्चों के परिजनों को कहा गया है कि वह बच्चों के शरीर का तापमान चैक करते रहें। वहीं हथेलियों और पैरों के तलवे पर होने वाले रैशिज़ को भी चैक करते रहें। बच्चे का मुंह भी नियमित रुप से चैक करें। जिन बच्चों को बुखार है, नाक बह रही हो, कफ आदि हो, उन्हें स्कूल न भेजें। वहीं बच्चे की जानकारी स्कूल प्रशासन को देते रहें ताकि सुरक्षा उपाय सुनिश्चित किए

सेंट कबीर पब्लिक स्कूल के एडमिनिस्ट्रेटर गुरप्रीत सिंह बख्शी ने कहा है कि बच्चे में हाथ, पांव और मुंह की बीमारी पाई गई है। वहीं उसके टेस्ट करवाए जा रहे हैं। जल्द उसकी रिपोर्ट आ जाएगी।

सेंट कबीर स्कूल द्वारा जारी की गई एडवाइजरी
सेंट कबीर स्कूल द्वारा जारी की गई एडवाइजरी

सेंट कबीर ने अभिभावकों को कहा-सचेत रहें

सेंट कबीर स्कूल की प्रिंसिपल शिल्पी सूद गिल ने जारी एडवाइजरी में कहा है कि उनके यहां किंडरगार्टन सेक्शन में एक बच्चे के हाथ, पांव और मुंह की एक बीमारी पाई गई है। यह बच्चा स्कूल बस में दोपहर साढ़े 12 बजे ट्रिप पर भी था। स्कूल ने बच्चों के परिजनों को कहा है कि वह सचेत रहें। यदि उनके बच्चे में बुखार, गले में खराश, हाथों, पैरों या मुंह पर खुजली और चतके पड़ते हैं तो स्कूल को तुरंत जानकारी दें।

वहीं बच्चे की मेडिकल जांच की रिपोर्ट भी स्कूल के साथ शेयर करें। स्कूल से वर्चुअल मोड में शिक्षा देने संबंधी जानकारी जल्द ही बताने की बात भी एडवाइजरी में कही है।

सेंट जॉन्स ने ऑफलाइन स्टडी की शुरू

वहीं सेंट जॉन्स स्कूल ने भी कहा है कि पहले उन्होंने ऑफलाइन स्टडी पर विचार किया था। हालांकि जिस तरह से कोरोना मामले बढ़ रहे हैं उसे देखते हुए स्कूल ऑनलाइन स्टडी मोड पर जा रहा है। स्कूल में वह बच्चे सुबह के समय आ सकते हैं जो स्पोर्ट्स गतिविधियों से जुड़े हैं। हालांकि घर जाकर वह बाकी बच्चों के साथ ऑनलाइन स्टडी लेंगे। ऐसे बच्चे सुबह साढ़े 6 से 8 बजे तक स्कूल में स्पोर्ट्स गतिविधियों के लिए आ सकते हैं और इसके बाद 9 बजे ऑनलाइन स्टडी लेंगे।

चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा हैंड, फुट एंड माउथ बीमारी को लेकर जारी की गई एडवाइजरी
चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा हैंड, फुट एंड माउथ बीमारी को लेकर जारी की गई एडवाइजरी

कोरोना और मंकीपॉक्स के खतरे के बीच स्कूल दुविधा में: गोयल

चंडीगढ़ पेरेंट्स' एसोसिएशन के प्रेसिडेंट नितिन गोयल ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते केसों और मंकीपॉक्स के खतरे के बीच कई स्कूल ऑनलाइन मोड पर चले गए हैं। दूसरी ओर कुछ स्कूल इंतजार कर रहे हैं। हेल्थ और एजुकेशन डिपार्टमेंट की तरफ से कोई निश्चित दिशानिर्देश जारी नहीं किए गए हैं। ऐसे में शहर के स्कूल ऑनलाइन और ऑफलाइन के बीच दुविधा में हैं। बच्चों के परिजनों के लिए भी यह दुविधा बनी हुई है।